मैसुरु सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता बयान दर्ज कराने के लिए तैयार, मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज करवा सकती हैं

 

कर्नाटक- मैसुरु सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता बयान दर्ज कराने को तैयार।(फोटो: दैनिक जागरण)

 पुलिस ने मैसुरु सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को बयान दर्ज कराने के लिए राजी कर लिया है। सूत्रों ने बताया कि मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी मुंबई स्थित आवास पर पीड़िता से मुलाकात की और उसे आरोपितों के खिलाफ बयान देने के लिए तैयार कर लिया।

मैसुरु, आइएएनएस। कर्नाटक पुलिस ने मैसुरु सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को बयान दर्ज कराने के लिए राजी कर लिया है। सूत्रों ने बताया कि मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी मुंबई स्थित आवास पर पीडि़ता से मुलाकात की और उसे आरोपितों के खिलाफ बयान देने के लिए तैयार कर लिया। अधिकारियों ने पीडि़ता को यह विकल्प दिया है कि चाहे तो वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से भी मजिस्ट्रेट के समक्ष अपना बयान दर्ज करवा सकती है।

पुलिस पीडि़ता को आमने-सामने आरोपितों की पहचान करने के लिए भी राजी करने का प्रयास करेगी। हालांकि, तस्वीरों को देखकर उसने आरोपितों को पहले ही पहचान लिया है। सामूहिक दुष्कर्म की वारदात 24 अगस्त को हुई थी, जब एमबीए कर चुकी युवती अपने पुरुष मित्र के साथ चामुंडी हिल गई थी। बदमाशों के एक गिरोह ने दोनों को अगवा करते हुए उनसे तीन लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। जब पैसे नहीं मिले तो बदमाशों ने युवक की जमकर पिटाई की और युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस मामले के सभी आरोपितों को तमिलनाडु से गिरफ्तार कर चुकी है।

निजामुद्दीन से केरल जा रही ट्रेन में बेहोश कर तीन महिलाओं को लूटा

दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन से तिरुअनंतपुरम के बीच चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन में सफर कर रहीं तीन महिला यात्रियों पर नशीले पदार्थ का इस्तेमाल कर लाखों का कीमती सामान लूटे जाने की घटना प्रकाश में आई है। एक ही ट्रेन में हुई दो घटनाओं का रविवार को तब पता चला जब ट्रेन तिरुअनंतपुरम पहुंची। तीनों महिलाएं ट्रेन में अचेत अवस्था में मिलीं। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रेलवे पुलिस के अनुसार ट्रेन के एस 1 कोच में मां विजयलक्ष्मी और बेटी अंजली आगरा से सवार हुई थीं। उन्हें केरल के कायमकुलम जाना था। दोनों ने रास्ते में किसी का दिया न कुछ खाया और न कुछ पीया, बावजूद इसके वे कब अचेत हो गईं पता नहीं चला। तिरुअनंतपुरम में इलाज के बाद जब दोनों को होश आया तब बताया कि उनके करीब 6.27 लाख रुपये मूल्य के सोने के जेवर और 16 हजार और 13 हजार रुपये मूल्य के दो मोबाइल फोन गायब थे। इसी प्रकार से तीसरी महिला कौशल्या ट्रेन के एस 2 कोच में सफर कर रही थी। उनका मोबाइल फोन चोरी हो गया है। उन्हें भी नहीं पता कि वह कब अचेत हो गईं। आशंका है कि तीनों महिलाओं को स्प्रे से बेहोश किया गया। रेलवे पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। दोनों रेलवे कोच कोचुवेली स्टेशन ले जाए गए हैं जहां पर उनमें अपराध के सुबूत तलाशे जाएंगे।