रविवार तक घोषित करें डीएसजीएमसी के नामित सदस्यों के चुनाव का परिणाम


डीएसजीएमसी के चुनाव का परिणाम रविवार को आने की संभावना है।
सुनवाई के दौरान गुरुद्वारा चुनाव के निदेशक ने अधिवक्ता के माध्यम से पीठ को बताया कि नौ सितंबर को हुए नामित सदस्यों के चुनाव का रिकार्ड सील बंद लिफाफे में है। नामित सदस्यों के लिए 16 मताें की जरूरत है और एक प्रत्याशी ने 18 मत हासिल किए हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) के नामित सदस्यों के चुनाव परिणाम का रास्ता साफ हो गया है। याचिकाकर्ता भूपिंदर सिंह भुल्लर द्वारा अपना वोट वापस लेने का अनुरोध करने के बाद न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा की पीठ ने चुनाव अधिकारी को निर्देश दिया कि याची के वोट को नरजअंदाज करें और इसे परिणाम में शामिल न करें। दस सिंतबर को दिए गए अपने फैसले में पीठ ने निर्देश दिया कि नामित सदस्यों के चुनाव की आगे की प्रक्रिया को नियम के तहत जारी रखा जाए और दो दिन के अंदर नामित सदस्यों के चुनाव का परिणाम घोषित किया जाए। ऐसे में रविवार को चुनाव परिणाम आने की संभावना है।

सुनवाई के दौरान गुरुद्वारा चुनाव के निदेशक ने अधिवक्ता के माध्यम से पीठ को बताया कि नौ सितंबर को हुए नामित सदस्यों के चुनाव का रिकार्ड सील बंद लिफाफे में है। नामित सदस्यों के लिए 16 मताें की जरूरत है और एक प्रत्याशी ने 18 मत हासिल किए हैं। वहीं, सुनवाई के दौरान भूपिंदर सिंह भुल्लर की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश मल्होत्रा व अधिवक्ता अबिनाश कुमार मिश्रा ने पीठ को बताया कि सीलबंद लिफाफ में पेश किए गए उनके मुवक्किल का वोट को न गिना जाए और उन्होंने मत को वापस लेने की अनुमति मांगी।

याचिका के अनुसार शिअद बादल की तरफ से प्रीत विहार से चुनाव लड़ने वाले भुल्लर ने जागो के उम्मीदवार मंगल सिंह को छह वोटों से हराकर डीएसजीएमसी के चुनाव में जीत हासिल की थी। चुनाव मतगणना को चुनौती देते हुए मंगल सिंह ने कड़कड़डूमा कोर्ट में याचिका दायर की थी।

इस पर कोर्ट ने भुल्लर पर नामित सदस्यों के चुनाव में मतदान करने पर रोक लगा दी है। निचली अदालत के फैसले को भुल्लर ने हाई कोर्ट में चुनौती दे दी थी। बृहस्पतिवार को भुल्लर का वोट सीलबंद लिफाफे में हाई कोर्ट के समक्ष पेश किया गया था। नौ सितंबर को हुए नामित सदस्यों के चुनाव में शिरोमणि अकाली दल दिल्ली (सरना) के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना को 18 वोट मिले हैं। वहीं, शिरोमणि अकाली दल बादल के विक्रम सिंह रोहिणी को 15 व जसविंदर सिंह जौली को 12 मत मिले हैं।