पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस फिर से शुरू करेगी काबुल के लिए वाणिज्यिक उड़ानें

 

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस फिर से शुरू करेगी काबुल के लिए वाणिज्यिक उड़ानें
पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआइए) जल्द ही इस्लामाबाद से काबुल के लिए विशेष चार्टर उड़ानों को 13 सितंबर से शुरू करने जा रहा है। अफगान पर तालिबान के काबिज होने के बाद अफगानिस्तान में पीआइए पहली विदेशी वाणिज्यिक एयरलाइन कंपनी है जो उड़ानों को शुरू करने वाली है।

इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआइए) जल्द ही इस्लामाबाद से काबुल के लिए विशेष चार्टर उड़ानों को 13 सितंबर से शुरू करने जा रहा है। एएनआइ को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स के प्रवक्ता अब्दुल्ला खान ने यह जानकारी दी है। बता दें कि अफगान पर तालिबान के काबिज होने के बाद अफगानिस्तान में पीआइए पहली विदेशी वाणिज्यिक एयरलाइन कंपनी है जो उड़ानों को शुरू करने वाली है।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स के प्रवक्ता अब्दुल्ला खान ने कहा कि हमें उड़ान संचालन के लिए सभी तकनीकी मंजूरी मिल गई है। हमारा पहला वाणिज्यिक विमान 13 सितंबर को इस्लामाबाद से काबुल के लिए उड़ान भरने वाला है।

30 अगस्त को अमेरिकी सेना की वापसी के साथ समाप्त हुए 1,24,000 से अधिक लोगों की अराजक निकासी के दौरान काबुल हवाई अड्डे को गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। तालिबान कतर की तकनीकी मदद के साथ इसे फिर से संचालित करने में जुट गया था।पिछले दो दिनों में कतर एयरवेज ने काबुल से दो चार्टर उड़ानें संचालित की हैं, जिनमें ज्यादातर विदेशी और अफगानी हैं, जो निकासी के दौरान देश में रह गए थे। एक अफगान एयरलाइन ने पिछले सप्ताह घरेलू उड़ानें फिर से शुरू कीं।

इससे पहले, अमेरिका ने शुक्रवार को अफगानिस्तान से 21 अमेरिकी नागरिकों और 11 वैध स्थायी निवासियों (एलपीआर) के प्रस्थान की मदद की थी। इसके अतिरिक्त, कतर एयरवेज की एक अन्य चार्टर उड़ान 19 अमेरिकी नागरिकों के साथ काबुल से रवाना हुई। अमेरिकी नागरिकों को 44 सीटों की पेशकश की गई थी, मगर सभी ने यात्रा नहीं की।

अमेरिका और कतर के अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि तालिबान द्वारा लगभग 200 अमेरिकियों और अन्य विदेशी नागरिकों को काबुल से उड़ान भरने की अनुमति देने के एक दिन बाद शुक्रवार की निकासी हुई। इससे पहले, अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड जे ऑस्टिन III ने कहा था कि अमेरिका ने अफगानिस्तान से लगभग 6,000 अमेरिकी नागरिकों और कुल 1,24,000 से अधिक नागरिकों को निकाला है।