तेलंगाना में शुरू हुई 'मेडिसिन फ्राम द स्काई' योजना, ड्रोन के जरिए भेजी जाएंगी दवाएं

 

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की योजना की शुरुआत
इस मौके पर सिंधिया ने कहा कि इस प्रोजेक्ट के द्वारा ड्रोन के जरिए दूर-दराज के इलाकों में दवाओं की डिलीवरी की जाएगी। इस सुविधा से दूर-दराज के इलाकों में वैक्सीन और अन्य आवश्यक वस्तुओं को आसानी से पहुंचाने में मदद मिलेगी।

हैदराबाद, एएनआइ। आज के दौर में तकनीक का हमारे जीवन में काफी ज्यादा योगदान है। इसका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में हो रहा है। अब दवाओं की डिलीवरी में भी नई तकनीक का उपयोग होगा। देश में शनिवार को 'मेडिसिन फ्राम द स्काई' योजना की शुरुआत की गई। इस परियोजना की शनिवार को तेलंगाना के 16 ग्रीन जोन में शुरुआत की गई। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य संधिया ने इस परियोजना की शुरुआत की।

इस मौके पर सिंधिया ने कहा कि इस प्रोजेक्ट के द्वारा ड्रोन के जरिए दूर-दराज के इलाकों में दवाओं की डिलीवरी की जाएगी। इस सुविधा से दूर-दराज के इलाकों में वैक्सीन और अन्य आवश्यक वस्तुओं को आसानी से पहुंचाने में मदद मिलेगी। तीन महीने के बाद प्रोजेक्ट का डेटा एनालिसिस किया जाएगा। इसके बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, राज्य सरकार और केंद्र मिलकर पूरे देश के लिए माडल तैयार करेंगे। उन्होंने इसे देश के लिए बहुत क्रांतिकारी दिन बताया है।सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में ड्रोन पालिसी तैयार और लागू की गई है। उन्होंने कहा कि इंटरेक्टिव एयरोस्पेस मैप तैयार किया जा रहा है। इस मैप और राज्यों की सहायता से विभिन्न जोन का चिन्हिकरण किया जा रहा है।

बता दें कि मेडिसिन फ्राम द स्काई प्रोजेक्ट को वर्ल्ड इकोनामिक फोरम, नीति आयोग और हेल्थनेट ग्लोबल के जरिए तेलंगाना में शुरू किया गया है। इसे एक प्रयोग के तौर पर शुरू किया गया है। इसके तहत विकराबाद जिले में चिन्हित एयरोस्पेस पर ड्रोन के जरिए वैक्सीन की डिलीवरी की जा रही है। वहीं, इस दौरान तेलंगाना के आईटी और उद्योग मंत्री रामा राव ने केंद्रीय मंत्री से हैदराबाद के बेगमपट हवाई अड्डे पर यूनिवर्सिटी स्थापित करने की भी मांग की।