काबुल एयरपोर्ट पर पूर्व में तैनात रही पुलिस ड्यूटी पर लौटी

 

काबुल एयरपोर्ट पर पूर्व में तैनात रही पुलिस लौटी ड्यूटी पर

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे से पहले काबुल एयरपोर्ट पर काम रही बार्डर पुलिस फिर अपनी ड्यूटी पर लौट रही है। तालिबान ने कहा है कि अधिकांश पुलिसकर्मी अब एयरपोर्ट पर काम के लिए लौट रहे हैं। उनकी दोबारा तैनाती की जा रही है।

काबुल, एएनआइ। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे से पहले काबुल एयरपोर्ट पर काम रही बार्डर पुलिस फिर अपनी ड्यूटी पर लौट रही है। तालिबान ने कहा है कि अधिकांश पुलिसकर्मी अब एयरपोर्ट पर काम के लिए लौट रहे हैं। उनकी दोबारा तैनाती की जा रही है। अब तक जो लड़ाके यहां पर तैनात थे, उनके स्थान पर अब एयरपोर्ट पर वर्दीधारी पुलिस दिखाई देगी। तालिबान ने कहा है कि उन्होंने कस्टम सहित सभी विभागों को काम पर लौटने के लिए कहा है। हालांकि, अभी तक उसने यातायात पुलिस, नगर पालिका कर्मचारियों और स्कूल टीचरों को काम पर बुलाने पर कोई ध्यान नहीं दिया है।

इससे पहले तालिबान सरकार के वित्त विभाग ने सभी कस्टम कर्मचारियों को लौटने के लिए कहा था। साथ ही यह भी चेतावनी दी थी कि अनुपस्थित रहने पर उनका वेतन काट लिया जाएगा। अफगानिस्तान के लोग पूर्व कर्मचारियों को काम पर बुलाने की मांग कर रहे हैं, क्योंकि ये कर्मचारी हर तरह से काम करने में अभ्यस्त हैं।

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबानी कब्जे के करीब एक महीने बाद काबुल अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर पहली कमर्शियल फ्लाइट लैंड भी हुई है। 15 अगस्त, 2021 को अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जे का एलान किया था। वहीं पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) का एक प्लेन सोमवार को हामिद करजई (काबुल) अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा। हालांकि, इस फ्लाइट में सिर्फ 10 ही यात्री सवार थे। इसमें यात्रियों से ज्यादा स्टाफ की संख्या थी।

बता दें कि इससे पहले तालिबान प्रवक्‍ता ने बताया था कि तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और कतर से तकनीकी दल और विशेषज्ञ हवाई अड्डे से संचालन शुरू करने के लिए अफगानिस्तान की मदद रहे हैं। एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानें जल्द ही फिर से शुरू सकेंगी। उन्होंने कहा था कि एयरपोर्ट जल्द ही संचालन के लिए तैयार हो जाएगा। प्रवक्‍ता ने कहा था कि दुर्भाग्‍य से अमेरिकी सैनिकों ने एयरपोर्ट के कुछ हिस्सों को क्षतिग्रस्त कर दिया है और अब कतर और यूएई के समर्थन से उनकी मरम्मत की जा रही है। काबुल एयरपोर्ट बहुत जल्द लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।