मधुबनी में अवैध बालू खनन करने वालों पर कार्रवाई, सात ट्रैक्टर जब्त

 

मधुबनी में ट्रैक्टर जब्त करतीं एसडीओ बेबी कुमारी। जागरण
 एसडीओ के नेतृत्व में जयनगर पुलिस व एसएसबी ने की कार्रवाई खनन पदाधिकारी ने अज्ञात लोगों के विरूद्ध दर्ज कराई प्राथमिकी कार्रवाई से बालू खनन में लिप्त माफियाओं में मचा हड़कंप ट्रैक्‍टर जब्‍त करने की हुई कार्रवाई।

मधुबनी (जयनगर), जासं। अनुमंडल प्रशासन ने अवैध बालू खनन करने वालों के विरूद्ध बड़ी कार्रवाई करते हुए सात बालू लदे ट्रैक्टर को जब्त किया गया है। एसडीओ बेबी कुमारी के नेतृत्व में जयनगर थाना पुलिस और एसएसबी जवानों के सहयोग से फरदाही दुर्गा मंदिर के समीप कमला नदी में छापेमारी कर अवैध बालू खनन करते सात ट्रैक्टर को जब्त किया गया। एसडीओ के नेतृत्व में पहुंचे छापेमारी दल को देखते ही हड़कंप मच गया और अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो गया। कुछ ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टर लेकर और कुछ चालक ट्रैक्टर छोड़कर भाग खड़े हुए। ट्रैक्टर लेकर भाग रहे चालक को खदेड़कर ट्रैक्टर को जब्त किया गया, लेकिन चालक भागने में सफल रहे। एसडीओ के साथ छापेमारी अभियान में सीओ सुधीर कुमार, खनन पदाधिकारी विजय शंकर प्रसाद समेत पुलिस और एसएसबी जवान शामिल थे।

एसडीओ बेबी कुमारी ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर बताया कि कमला नदी में अवैध बालू खनन करते सात ट्रैक्टर को जब्त किया गया है। कुछ ट्रैक्टर पर बालू लदा था और कुछ ट्रैक्टर चालक बालू लोड करना प्रारंभ ही किया था। सभी सात ट्रैक्टर को जब्त कर जयनगर थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अवैध बालू खनन करने वाले लोगों के विरुद्ध निरंतर अभियान चलाया जाएगा। खनन पदाधिकारी को सभी ट्रैक्टर के इंजन और चेसिस नंबर के आधार पर कठोर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, अवैध बालू खनन में एक जेसीबी का भी उपयोग किया जा रहा था, लेकिन चालक जेसीबी को झाड़ियों के आड़ में छिपाते हुए ले जाने में कामयाब हो गया।जेसीबी की भी पुलिस ने तलाश की, लेकिन अंधेरा हो जाने के कारण उसे जब्त नहीं किया जा सका। खनन पदाधिकारी विजय शंकर प्रसाद ने अज्ञात के विरूद्ध मामला दर्ज कराया है। जयनगर थानाअध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि प्राथमिकी के आलोक में अवैध बालू खनन में लिप्त माफियाओं के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बता दे कि कमला नदी और उसके शाखा नहरों में अवैध बालू खनन का गोरखधंधा वर्षों से जारी है।नियमित मॉनिटरिंग और कार्रवाई नहीं होने से बालू खनन में लिप्त माफियाओं का हौसला बुलंद है। हालांकि, इस कार्रवाई से उनमें हड़कंप मचा हुआ है।