दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, आइए और चांदनी चौक की इस बदली हुई तस्वीर को अनुभव कीजिए

 

आप भी आइए और चांदनी चौक की इस बदली हुई तस्वीर का अनुभव कीजिए।
नई दिल्ली लाल किला से फतेहपुर मस्जिद तक वाहनों की पार्किंग व रेहड़ी-पटरी वालों के कारण पूरा मार्ग हमेशा जाम की जद में रहता था। इसके साथ ही लटकते तार सीवर का बहता पानी कूड़े के ढेर इसकी पहचान बन चुके थे लेकिन अब इसकी तस्वीर बदल गई है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। दिल्ली में राज कर रही आम आदमी पार्टी राजधानी को और सुंदर बनाने की दिशा में लगातार काम कर रही है। इसी दिशा में सबसे पुराने चांदनी चौक के एक हिस्से को सुंदर और आकर्षक बनाने का काम किया गया है। रविवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस सुंदरीकरण का बकायदा उद्घाटन किया और उसे जनता को समर्पित किया। अब स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने इसका एक वीडियो भी ट्वीट किया है। इसी ट्वीट के साथ उन्होंने लिखा है कि न टूटी सड़कें, न ट्रैफिक जाम और न कोई भीड़-भाड़, कुछ ऐसा दिखता है अब हमारा चांदनी चौक!

इससे पहले नई दिल्ली लाल किला से फतेहपुर मस्जिद तक वाहनों की पार्किंग व रेहड़ी-पटरी वालों के कारण पूरा मार्ग हमेशा जाम की जद में रहता था। इसके साथ ही लटकते तार, सीवर का बहता पानी, कूड़े के ढेर इसकी पहचान बन चुके थे, लेकिन अब इसकी तस्वीर बदल गई है। यह आकर्षक होने के साथ ही आरामदेह हो गई है। इस तस्वीर को बदलने का सपना तो कांग्रेस सरकार में भी देखा गया था, लेकिन इसे अमलीजामा पहनाने का काम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यकाल में हुआ है। 27 अगस्त 2018 को चांदनी चौक के पुनर्विकास का प्रस्ताव अनुमोदित किया गया था। मुख्य परियोजना पर मार्च 2019 में कार्य शुरू किया गया। चांदनी चौक कारिडोर का नोटिफिकेशन जून 2021 में हुआ था। कारिडोर की लंबाई 1.4 किलोमीटर है और चौड़ाई 26 से 30 मीटर है।

सुविधाओं का रखा ख्याल

चांदनी चौक के पुनर्विकास में आम जनता की सुविधाओं का भी पूरा ख्याल रखा गया है। चांदनी चौक कारिडोर की लंबाई के साथ बलुआ पत्थर के बोलर्ड लगाकर जोनों को अलग किया गया है। लोगों की सहूलियत का ख्याल रखते हुए चार शौचालय व दो पुलिस पोस्ट बनाए गए हैं। साथ ही, वाटर एटीएम, एसएस कूड़ेदान और बैठने के लिए पत्थर की सीटें लगाई गई हैं।

पर्यटकों की सुरक्षा के लिए ये इंतजाम किए गए हैं

197 इलेक्टि्रक पोल लगाए गए हैं।124 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। 100 बुलेट कैमरे लगाए गए है, इससे चोरी व झपटमारी पर लगाम लगाई जा सकेगी 23 एनपीआर कैमरे यातायात को नियंत्रित करने के लिए लगाए गए हैं 01 आरएलवीडी कैमरा लाल किला जंक्शन पर लगा है। 17 बूम बैरियर यातायात की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए सड़कों पर लगाए गए हैं।17 एनपीआर कैमरे बूम बैरियर वाले स्थानों पर अभी लगाए जाने हैं, इससे यातायात नियमों का उल्लंघन रुकेगा

साफ-सफाई की व्यवस्था

नियमित रूप से साफ-सफाई के लिए कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। चांदनी चौक कारिडोर के एरिया में प्रतिदिन सफाई की जाएगी। पर्यावरण के अनुकूल बैट्री चालित स्क्रबर और स्वीपर के माध्यम से मशीन से सफाई की जाएगी। साथ ही, सड़क पर लगाए गए सभी फर्नीचर जैसे- बोलसर्ड और बेंचों की नियमित सफाई और धुलाई की जाएगी।

गोल्फ कार्ट और रिक्शे से करें सफर

वाहनों का प्रवेश बंद है तो आने जाने वाले लोगों की सुविधा के लिए गोल्फ कार्ट और पैडल रिक्शे की व्यवस्था रहेगी। खास बात यह है कि रिक्शों के लिए नंबर और रिक्शा चालकों के लिए प्रवेश पत्र जारी किया गया है। इनका किराया भी 10 रुपये व 20 रुपये निर्धारित है।

महिला शक्ति का सपना हुआ साकार

पुनर्विकास परियोजना में महिला शक्ति का दम दिखा। इस परियोजना को साकार करने में परियोजना की मुख्य नोडल अधिकारी रेनू शर्मा, एसआरडीसी की प्रबंध निदेशक गरिमा गुप्ता, पीडब्ल्यूडी की सचिव दिलराज कौर, नगर निगम की उपायुक्त शशांका आला और मध्य दिल्ली की जिलाधिकारी आकृति सागर का बड़ा योगदान रहा। उद्घाटन अवसर पर इन अधिकारियों की मौजूदगी आकर्षण के केंद्र में रहीं।