गरीब सवर्णों का नहीं बन रहा आय प्रमाणपत्रः बिधूड़ी

 

युवा प्रमाण पत्र लेने के लिए सरकारी कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं।

भाजपा का आरोप है कि दिल्ली में आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आय प्रमाणपत्र नहीं दिया जा रहा है जिससे वह आरक्षण का लाभ उठाने से वंचित हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने दिल्ली सरकार से सवर्णों को आय प्रमाणपत्र जारी करने की मांग की है।

नई दिल्ली । भाजपा का आरोप है कि दिल्ली में आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आय प्रमाणपत्र नहीं दिया जा रहा है, जिससे वह आरक्षण का लाभ उठाने से वंचित हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने दिल्ली सरकार से सवर्णों को आय प्रमाणपत्र जारी करने की मांग की है।

सवर्ण जाति के गरीबोंक को मिल रहा दस फीसद आरक्षण

उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा सवर्ण जाति के गरीबों को दस फीसद आरक्षण दिया गया है। इसके तहत नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की सुविधा दी गई है। आम आदमी पार्टी (आप) ने उसी समय इस आरक्षण का विरोध किया था। अब जानबूझकर पात्र लोगों को इसके लाभ से वंचित रखने की साजिश की जा रही है। इसका लाभ लेने के लिए आय प्रमाणपत्र देना होता है, लेकिन दिल्ली सरकार की ओर से जारी नहीं किया जा रहा है। इससे युवा वर्ग परेशान हो रहा है। प्रमाण पत्र लेने के लिए वे सरकारी कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगती है।

दिल्ली सरकार की आनलाइन सेवा पर उठाया सवाल

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार लोगों की सुविधा के लिए आनलाइन सेवा उपलब्ध कराने का दावा करती है। लेकिन, इस वर्ग के लिए आनलाइन सुविधा नहीं है। इससे साफ है कि दिल्ली सरकार आयुष्मान भारत और अन्य केंद्रीय योजनाओं की तरह सवर्ण आरक्षण के लाभ से भी दिल्लीवालों को वंचित रखना चाहती है। बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली सरकार को गरीब सवर्णों की परेशानी दूर करनी चाहिए। उन्होंने इस मामले में उपराज्यपाल से भी भेंट करने का फैसला किया है। इस बारे में दिल्ली सरकार से पक्ष मांगा गया, लेकिन प्राप्त नहीं हो सका।