भारतीय मूल की मंत्री की ब्रिटिश कैबिनेट में वापसी, छह महीने बाद संभालेंगी पद

 

भारतीय मूल की ब्रिटेन की कैबिनेट मंत्री सुएला ब्रेवमैन

भारतीय मूल की ब्रिटेन की कैबिनेट मंत्री सुएला ब्रेवमैन ने मातृत्व अवकाश के बाद फिर से अटर्नी जनरल का पद संभाल लिया है। मंत्रियों के लिए बने नए कानून के तहत उन्हें अपने दूसरे बच्चे के जन्म के लिए पद छोड़ना पड़ा था।

लंदन, प्रेट्र। भारतीय मूल की ब्रिटेन की कैबिनेट मंत्री सुएला ब्रेवमैन ने मातृत्व अवकाश के बाद फिर से अटर्नी जनरल का पद संभाल लिया है। मंत्रियों के लिए बने नए कानून के तहत उन्हें अपने दूसरे बच्चे के जन्म के लिए पद छोड़ना पड़ा था। ब्रिटेन की सरकार में सबसे वरिष्ठ कानून अधिकारी सुएला ब्रेवमैन 41 वर्षीय बैरिस्टर हैं। वह छह महीने का अवकाश खत्म होने के बाद फिर से संसद की अग्रिम बेंच पर बैठने के लिए तैयार हैं।

पिछले कुछ महीनों से अवकाश प्राप्त मंत्री (अटर्नी जनरल) के तौर पर कार्यरत थीं ब्रेवमैन

द डेली टेलीग्राफ के अनुसार ब्रेवमैन अपनी पहली कैबिनेट बैठक में इस सप्ताह की शुरुआत में शामिल हुई थीं। ऐसा तब हुआ, जब प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने पिछले 18 महीनों में पहली बार अपनी टीम के वरिष्ठ सदस्यों से मुलाकात की। चूंकि कोविड-19 के चलते लागू लाकडाउन के दौरान सिर्फ वर्चुअल बैठकें ही हो रही थीं। वह औपचारिक रूप से अपना विभाग अगले हफ्ते से संभाल लेंगी। ब्रेवमैन पिछले कुछ महीनों से अवकाश प्राप्त मंत्री (अटर्नी जनरल) के तौर पर कार्यरत थीं।इस अवधि में उनके स्थान पर उनकी उप सालीसिटर जनरल मिशेल एलिस कामकाज संभाल रही थीं। जबकि मिशेल की जगह जेल मंत्री लूसी फ्रेजर को मिल गई थी। डाउनिंग स्ट्रीट ने शुक्रवार को इस बात की पुष्टि कर दी कि एलिस और फ्रेजर अब पूर्वरत अपना कामकाज देखेंगी।

ब्रिटेन की कैबिनेट में भारतीय मूल के कई लोग

ब्रिटेन की कैबिनेट में भारतीय मूल के कई लोगों ने महत्वपूर्ण पदभार संभाल रखा है। ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल भारतीय मूल की हैं। वहीं ऋषि सुनक ने वित्त मंत्रालय संभाल रखा है। ऋषि सुनक इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं। आलोक शर्मा 2019 में अंतरराष्ट्रीय सहायता मंत्री बने। शर्मा ने विभिन्न भूमिकाएं निभाई हैं। 2016 में प्रधानमंत्री के बुनियादी ढांचे के दूत और अगले वर्ष आवास मंत्री बने।