पैसा दोगुना करने का झांसा देकर हजारों लोगों से ठगी, पुलिस कर रही मामले की छानबीन

 

निवेशकों के करोड़ों रुपये लेकर कंपनी हुई फरार।

पीड़ितों की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने कंपनी के निदेशक चंद्र प्रकाश सैनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आरोपित अभी फरार चल रहा है। अधिकारियों का कहना है कि यह घोटाला कई करोड़ रुपये का है।

नई दिल्ली । आजादपुर स्थित एक चिटफंड कंपनी चार साल में पैसे दोगुना करने का झांसा देकर हजारों लोगों से करोड़ों रुपये लेकर फरार हो गई। पीड़ितों की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने कंपनी के निदेशक चंद्र प्रकाश सैनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आरोपित अभी फरार चल रहा है। अधिकारियों का कहना है कि यह घोटाला कई करोड़ रुपये का है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

आजादपुर स्थित निकिता टावर में वसुंधरा ग्रुप के नाम से चिटफंड कंपनी खोली गई थी। यह कंपनी वर्ष 1999 से लोगों से 10 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से निवेश करवाती थी। निवेशकों को कंपनी जमा अवधि पूरा होने पर मूलधन के साथ अच्छा ब्याज भी दे रही थी। इस कंपनी में आजादपुर, मुकुंदपुर, बुराड़ी, भलस्वा डेयरी, सुल्तानपुरी, मंगोलपुरी, स्वरूप नगर, लालबाग के रहने वाले हजारों लोगों ने निवेश किया।

लोग कंपनी के एजेंट के माध्यम से पैसे जमा करते थे। वर्ष 2019 में कंपनी एक नई योजना लेकर आई । इस योजना के तहत बताया गया कि कंपनी चार साल में निवेश किए गए पैसों को दोगुना करके देगी। चूंकि कंपनी वर्षों से यह काम कर रही थी ऐसे में निवेशकों ने करोड़ों रुपये का निवेश कर दिया। लेकिन, इस वर्ष जुलाई में कंपनी ने अपना कार्यालय बंद कर दिया। इसके साथ ही कंपनी के निदेशक ने अपना फोन बंद कर लिया और निवेशकों को कोई जानकारी नहीं दी गई।

नशीला पदार्थ सुंघाकर युवक से 40 हजार लिए

वहीं, संसद मार्ग थाना क्षेत्र स्थित पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी ) की शाखा में 40 हजार रुपये जमा करने गए युवक को दो बदमाशों ने नशीला पदार्थ सुंघा दिया और पैसे लेकर फरार हो गए। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार, 24 वर्षीय अजय कुमार यादव आइएनएस बिल्डिंग में एक मीडिया संस्थान में काम करते हैं। उनके मालिक ने उन्हें 40 हजार रुपये पटेल चौक स्थित पीएनबी में जमा करने को भेजा था। वह बैंक में बाउचर भर रहे थे तभी दो लोग उनके पास पहुंचे।