दिल्ली-एनसीआर में बदला मौसम, यूपी- हरियाणा सहित इन राज्यों में बारिश की चेतावनी

 

दिल्ली एनसीआर सहित कई इलाकों में हो रही बारिश (फोटो एजेंसी)
राजधानी दिल्ली के साथ गुरुग्राम गाजियाबाद दादरी ग्रेटर नोएडा नोएडा बल्लभगढ़ फरीदाबाद हापुड़ भिवानी रोहतक पानीपत और आसपास के क्षेत्रों में हल्की बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने दिल्ली नोएडा ग्रेटर नोएडा समेत एनसीआर के ज्यादातर इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी रहने का अनुमान लगाया है।

नई दिल्ली, एजेंसी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर में अचानक मौसम का मिजाज बदल गया है। आसमान में बादल छाने के साथ कुछ इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है। मौसम विभाग सोमवार यानी 13 सितंबर को हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान जताया है। बता दें कि राजधानी दिल्ली के साथ गुरुग्राम, गाजियाबाद, दादरी, ग्रेटर नोएडा, नोएडा, बल्लभगढ़, फरीदाबाद, हापुड़, भिवानी, रोहतक, महम, चरखीदाद्री, पानीपत और आसपास के क्षेत्रों में गरज के साथ हल्की बारिश हो रही है। मौसम विभाग (IMD) ने दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत एनसीआर के ज्यादातर इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी रहने का अनुमान लगाया है।

वहीं उत्तर प्रदेश और हरियाणा के कई इलाकों में भी मौसम ने करवट ली है। आईएमडी के अनुसार हरियाणा के गोहाना, गन्नौर, जींद, पलवल, औरंगाबाद, सोनीपत, नूंह, सोहाना, मानेसर में जबकि यूपी के मथुरा, हाथरस, नरौरा, शामली, बरूत, खुर्जा, बरसाना, नंदगांव, कासगंज, अलीगढ़, बुलंदशहर, मेरठ गढ़मुक्तेश्वर, मुरादाबाद और आस-पास के इलाकों में अगले कुछ घंटों में बारिश का पूर्वानुमान है। इसके अलावा राजस्थान के कई जिलों में भी बारिश होने की संभावना है।

बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

स्काईमेट वेदर के मुताबिक एक गहरा निम्न दबाव का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी में विकसित हुआ है। इस सीजन में बंगाल की खाड़ी के ऊपर यह पहला डिप्रेशन होगा।  इसके पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में उड़ीसा, छत्तीसगढ़, विदर्भ और दक्षिण मध्य प्रदेश की ओर बढ़ने की उम्मीद है। यह 14 या 15 सितंबर तक पूर्वी राजस्थान के निम्न दबाव के साथ मिल सकता है। अगले 24 घंटों के दौरान ओडिशा में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। 13 और 14 सितंबर को छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में भी तेज बारिश की संभावना है। 2 से 3 दिनों के दौरान गुजरात के साथ-साथ दक्षिणपूर्व और पूर्वी राजस्थान में बारिश की गतिविधियां तेज होंगी।

अगले 2 से 3 दिनों के दौरान देश के पश्चिमी तट पर विशेष रूप से कोंकण और गोवा और तटीय कर्नाटक में  मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। अगले 3-4 दिन मध्य भारत में मानसून सक्रिय बना रहेगा तथा उड़ीसा से गुजरात और राजस्थान तक बारिश की गतिविधियां काफी अधिक रहेगी।