दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर; पुलिसकर्मियों को मिलेगा इनाम

 

दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में गैंगवार, पुलिस ने दो बदमाशों को किया ढेर

 दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में गैंगवार हुआ है। गैंगवार में कुख्यात अपराधी जितेंद्र गोगी की हत्या हो गई है। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने गोगी की हत्या करने आए दो बदमाशों को ढेर कर दिया है।

नई दिल्ली । रोहिणी कोर्ट में दो बदमाशोें ने अंधाधुंध फायरिंग कर कुख्यात बदमाश जितेंद्र मान उर्फ गोगी की हत्या कर दी। वारदात के समय उसे कोर्ट रूम में पेशी के लिए लाया गया था। एक वकील ने बताया कि कोर्ट रुम में जज के सामने बदमाशों ने जितेंद्र मान उर्फ गोगी पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई। जबावी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोली चलाई। जिसमें दोनों हमलावरों की भी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने तीनों शवाें को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच कर रही है। मौके पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। कोर्ट की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार रोहिणी कोर्ट रूम 207 में एनडीपीएस के एक मामले में जितेंद्र गोगी को पेशी के लिए लाया गया था। इस कोर्ट में एनडीपीएस से जुड़े मामले की सुनवाई होती है। कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही थी कि वकील की पोशाक पहने दो हमलावरों ने गोगी पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बताया जाता है कि गोगी को तीन से चार गोलियां लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी दोनों हमलावरों पर गोली चलाई। जिसमें उन दोनों हमलावरों की भी गोली लगने की मौत हो गई।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (उत्तरी रेंज) करेंगे मामले की जांच

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि दोनों हमलावर दिल्ली के मोस्ट वांटेड में से एक विचाराधीन कैदी गोगी के साथ मारे गए। उन्होंने कहा, पुलिस टीम ने दो हमलावरों पर जवाबी कार्रवाई शुरू की, जो वकीलों की पोशाक में थे और गोगी पर हमला किया था। उन्होंने कहा कि संयुक्त पुलिस आयुक्त (उत्तरी रेंज) घटना की जांच करेंगे और रिपोर्ट सौंपेंगे।

मारे गए बदमाशों की हुई पहचान

रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी की हत्या करने वालों की पहचान यूपी के बागपत के राहुल फफूंदी और दिल्ली के बक्करवाला निवासी मौरिस के तौर पर हुई। दोनों गैंगस्टर सुनील मान उर्फ टिल्लू के गुर्गे थे। टिल्लू की 11 साल से गोगी से अदावत थी।

निचली अदालतों में भी वकीलों की होनी चाहिए जांच

रोहिणी कोर्ट में आज जो वारदात हुई है, वो दिल्ली की किसी भी निचली अदालत में हो सकती है। साकेत कोर्ट में भी सुरक्षा राम भरोसे ही है। यहां न तो मेटल डिटेक्टर ठीक से काम करता है और न ही प्रवेश के समय वकीलों या अन्य किसी की कोई जांच की जाती है। जब सुप्रीम कोर्ट में वकीलों की जांच होती है, हाई कोर्ट में बिना आइ कार्ड दिखाए वकील कोर्ट परिसर में नहीं जा सकते तो निचली अदालतों में भी सुरक्षा की ऐसी ही कड़ी व्यवस्था क्यों नहीं की जाती। पुलिस को वकीलों के साथ समन्वय के साथ कोर्ट परिसर में सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए।

हमलावरों को ढेर करने वाले पुलिसकर्मियों को मिलेगा इनाम

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने बताया कि दोनों बदमाशों ने रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी पर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। पुलिस ने दोनों हमलावरों को मार गिराया। हमलावरों को ढेर करने वाले प्रत्येक पुलिसकर्मियों को 50-50 हजार रुपये बतौर इनाम दिया जाएगा।

कोर्ट में चल रही थी सुनवाई

पुलिस ने बताया कि शूटआउट के दौरान कोर्ट रूम में सुनवाई चल रही थी। बताया जा रहा है कि कई राउंड गोली चली है।

कोर्ट रूम में जज के सामने मारी गोली

रोहिणी कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि वकील की पोशाक पहनकर आए बदमाशों ने कोर्ट रूम में जज के सामने गोली मारी। इतिहास में शायद पहली ऐसी घटना है।

टिल्लू गैंग के बदमाशों का हाथ होने की आशंका

वारदात में एक महिला वकील के पैर में भी गोली लगी है। वारदात के पीछे गैंगवार बताया जा रहा है। जिसमें गोगी के विरोधी टिल्लू गैंग के बदमाशों का हाथ होने की आशंका पुलिस जता रही है। टिल्लू गैंग का गोगी के साथ दुश्मनी बहुत पुरानी बताई जाती है।

6.5 लाख का इनामी थी गोगी

गोगी रोहिणी जेल संख्या 2 के हाई रिस्क वार्ड में बंद था। गोगी को स्पेशल सेल ने पिछले साल मार्च में बहुत मुश्किल से गुरुग्राम से पकड़ा था। उस समय उस पर 6.5 लाख का इनाम था। सूत्रों का कहना है कि विरोधी गिरोह ने जितेंद्र पर हमला किया है। जानकारी के अनुसार, गोली लगने से तीन लोग घायल भी हुए हैं। मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस की जवाबी कार्रवाई में हमलावर ढेर हो गए हैं।

रोहिणी कोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई गई

पुलिस ने बताया कि गोगी को मारने आए राहुल फफूंदा और उसके साथी को सुरक्षा बल के जवानों ने मार गिराया। गोगी समेत तीन बदमाश मरे हैं। आरोपित वकील की ड्रेस पहनकर आये थे, ताकि कोई पहचान न सके। एक महिला वकील के पैर में गोली लगी है। घटना के बाद पुलिस ने रोहिणी कोर्ट में सुरक्षा बढ़ा दी है। कोर्ट के अंदर किसी को नहीं जाने दिया जा रहा है।