अंतरराष्ट्रीय ब्रांड का अवैध तरीके से कर रहे थे प्रयोग, कंपनी पर अदालत ने लगाया मोटा जुर्माना, जानिए ब्रांड का नाम

 

इटली के फ्लोरेंस स्थित फैशन हाउस ने कापीराइट का उल्लंघन का आरोप लगाया था।
अंतरराष्ट्रीय ब्रांड गूची का लोगो अवैध तरीके से उपयोग करने पर अदालत ने एक कंपनी पर दो लाख रुपये की क्षतिपूर्ति व 1.66 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। सत्र न्यायाधीश भरत पाराशर ने लोगो का गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर भी रोक लगाई है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। अंतरराष्ट्रीय ब्रांड गूची का लोगो अवैध तरीके से उपयोग करने पर अदालत ने एक कंपनी पर दो लाख रुपये की क्षतिपूर्ति व 1.66 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। सत्र न्यायाधीश भरत पाराशर ने लोगो का गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर भी रोक लगाई है। इंतियाज शेख के स्वामित्व वाली स्थानीय कंपनी शिप्रा ओवरसीज द्वारा गूची का लोगो इस्तेमाल करने के खिलाफ इटली के फ्लोरेंस स्थित फैशन हाउस ने कापीराइट का उल्लंघन का आरोप लगाया था।

अदालत ने सुनवाई के बाद कहा कि गूची के दावे पर विश्वास न करने का कोई कारण नहीं है। न्यायाधीश ने निर्देश दिया कि दिल्ली स्थित निर्माता के परिसर से बरामद सामान को नष्ट कर दिया जाए। फैशन हाउस का आरोप था कि वर्ष 2019 में उसके क्षेत्र प्रतिनिधियों ने पाया था कि शेख की कंपनी मोजे और पैकेजिंग सामग्री सहित अन्य सामान पर उनके लोगो का इस्तेमाल कर बड़ी मात्रा में नकली उत्पादों का निर्माण और भंडारण कर रही है।

उधर बड़गाम युद्ध के हीरो रहे जनरल एमएम खन्ना के महावीर चक्र का अब तक सुराग नहीं लगा है। खन्ना का महावीर चक्र अप्रैल में उनके बेटे रिटायर्ड ब्रिगेडियर अर्जुन सिंह के डिफेंस कालोनी स्थित घर से चोरी हो गया था। मनमोहन खन्ना को साल 1948 में बड़गाम में हुए युद्ध में अप्रतिम वीरता के लिए महावीर चक्र दिया गया था। महावीर चक्र उनके बेटे रिटायर्ड ब्रिगेडियर अर्जुन सिंह के डिफेंस कालोनी स्थित घर में रखा था। अर्जुन सिंह अपने बेटे के घर सिंगापुर गए थे। इस दौरान उनके घर में घरेलू सहायक मौजूद थे। पुलिस को दी शिकायत के अनुसार, महावीर चक्र चोरी होने की घटना का पता 27 जुलाई को लगा जब वह सिंगापुर से वापस भारत आए।पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। पीडि़त ने आशंका जताई थी कि 2020 से उनके घर में काम कर रहे उनके घरेलू सहायक कश्मीर बारा ने जुलाई में इसे चुराया है। उन्होंने बताया कि 29 अप्रैल को कश्मीर बारा ने अपने भाई की कोरोना से मौत की बात कहकर 50 हजार रुपये उनसे मांगे थे। इस पर उन्होंने उसका वेतन दे दिया था। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी फुटेज में 23 अप्रैल की रात दो व्यक्ति घर में घुसते नजर आए।

उनके घर से सोने-चांदी के जेवर, कुछ विदेशी मुद्रा और 20 हजार भारतीय रुपये चोरी हुए हैं। चोर उनके पिता का महावीर चक्र भी चोरी कर ले गए हैं। मामले में दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि महावीर चक्र चोरी के मामले में तीन टीम लगाई गई है, जो आरोपितों की तलाश में जुटी हुई हैं। जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।