राजस्थान में अक्टूबर में पूरा होगा वैक्सीनेशन का टारगेट


राजस्थान में अक्टूबर में पूरा होगा वैक्सीनेशन का टारगेट। फाइल फोटो
 चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान में सबसे ज्यादा सीकर जिले में 20 लाख 6679 लोगों को टीका लगाया जाना था। इसमें से अब तक 17 लाख 31 हजार से ज्यादा को पहली डोज लगाई जा चुकी है।

जयपुर,  सवाददाता। राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच रविवार को मात्र छह कोरोना संक्रमित मिले हैं। जयपुर में एक भी संक्रमित नहीं मिला। वहीं, राज्य में जिस गति से वैक्सीनेशन चल रहा है, अगर उसी गति से चलता रहा तो अक्टूबर के अंत तक पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन का एक सर्किल पूरा हो जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से पांच करोड़ 14 लाख 95 हजार 402 लोगों को चिन्हित किया गा है। इन सभी को कम से कम वैक्सीन की एक डोज लग जाएगी। चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य में सबसे ज्यादा सीकर जिले में 20 लाख 6,679 लोगों को टीका लगाया जाना था। इसमें से अब तक 17 लाख 31 हजार से ज्यादा को पहली डोज लगाई जा चुकी है।

यह कुल टारगेट ग्रुप का 86 प्रतिशत ज्यादा है। इनमें से से 29.71 फीसद लोग ऐसे हैं, जिनका वैक्सीनेशन पूरा हो चुका है। वैक्सीनेशन में सबसे पीछे भरतपुर जिला है। यहां 19 लाख 13 हजार लोगों को टीका लगाया जाना शेष है। उल्लेखनीय है कि अब तक पूरे राज्य में तीन करोड़ 71 लाख से ज्यादा लोगों को पहला डोज लगाया जा चुका है  सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन इस साल अगस्त में हुआ है। अगस्त में एक करोड़ से ज्यादा डोज लगे हैं। सितंबर में राज्य सरकार को केंद्र से 96 लाख डोज का आवंटन किया गया है।

मेगा कोविड वैक्सीनेशन अभियान 15 सितंबर को

जोधपुर संवाद सूत्र के मुताबिक, कोरोना प्रबंधन से लेकर कोविड वैक्सीनेशन में भी जोधपुर जिला अपने द्वारा किए गए नवाचारों के चलते प्रदेश भर में अपनी मिसाल पेश चुका है। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर बलवंत मंडा ने बताया कि जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह के निर्देशन में जोधपुर जिला कोविड-19 वैक्सीनेशन में कुशल प्रबंधन कर अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों का टीकाकरण करने के लिए प्रयासरत है। इसी के तहत जिले में 15 सितंबर को मेगा वैक्सीनेशन महा अभियान संचालित किया जाएगा, जिसमें अब तक टीके की पहली व दूसरी डोज से वंचित रहे पात्र लाभार्थियों का वैक्सीनेशन करने के लिए वृहद अभियान के तहत जिले की समस्त ग्राम पंचायत स्तर पर टीकाकरण सत्र आयोजित होंगे। उन्होंने इस मेगा वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने के लिए जनप्रतिनिधियों गणमान्य नागरिकों से सहयोग कर अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों का टीकाकरण करवाने की अपील भी की।

जिला प्रजनन व शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डा. कौशल दवे ने बताया कि 15 सितंबर को प्रस्तावित मेगा वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने के लिए फील्ड स्तर तक कार्य योजना बनाई जा चुकी है। खंड स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अपने संबंधित क्षेत्र में वंचित रहे लाभार्थियों को चिन्हित कर अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीनेशन करवाना है। इसके लिए खंड व शहरी जोनल स्तर पर जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए समन्वय बैठक कर लाभार्थियों को टीकाकरण करवाने के लिए प्रेरित करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि इस मेगा अभियान के अंतर्गत वंचित रहे पात्र लाभार्थियों के लिए वैक्सीनेशन का सुनहरा मौका है, वह अपना पहचान पत्र व मोबाइल साथ लाकर अपने ही ग्राम पंचायत या शहरी क्षेत्र में वार्ड के वैक्सीनेशन शिविर में सुव्यवस्थित व आसानी से अपना कोविड टीकाकरण करवा सकते हैं।