रोजगार कौशल विकसित करने के लिए विद्यार्थियों में विषय वस्तु दक्षता जरूरी

 


इण्डिया डाइडैक्टिक एसोशिएशन द्वारा आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में शामिल मंगलायतन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर केवीएसएम कृष्णा।

रोजगार कौशल विकसित करने के लिए विद्यार्थियों में विषय वस्तु-विशेषज्ञयता में दक्षता अत्यन्त जरूरी हैं। इसके साथ ही सॉफ्ट स्किल जिसमें प्रथम संचार दक्षता महत्वपूर्ण है। यदि विद्यार्थी संचार में दक्ष होगा तभी वह रोजगार और उद्यामिता में अपना भविष्य बना पाएगा।

अलीगढ़ । रोजगार कौशल विकसित करने के लिए विद्यार्थियों में विषय वस्तु-विशेषज्ञयता में दक्षता अत्यन्त जरूरी हैं। इसके साथ ही सॉफ्ट स्किल जिसमें प्रथम संचार दक्षता महत्वपूर्ण है। यदि विद्यार्थी संचार में दक्ष होगा तभी वह रोजगार और उद्यामिता में अपना भविष्य बना पाएगा। यह बातें मंगलायतन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर केवीएसएम कृष्णा ने इण्डिया डाइडैक्टिक एसोशिएशन द्वारा आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में कही। इस ऑनलाइन संगोष्ठी में विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने शिरकत की।

विद्यार्थी को किसी एक विषय में दक्ष होना जरूरी

इण्डिया डाइडैक्टिक एसोसिएशन द्वारा आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में मंगलायतन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर केवीएसएम कृष्णा ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहाकि विद्यार्थियों को कई विषयों की शिक्षा देने से उनकी काबिलियत को नहीं निखार सकते हैं। विद्यार्थियों को किसी एक विषय में दक्ष बनाना होगा। उन्होंने कहाकि शिक्षकों की नियुक्ति के समय ही यह बात उन्हें बता देनी है तभी शिक्षक विद्यार्थियों को विषय वस्तु-विशेषज्ञ बना सकेंगे। उन्होंने कहाकि विद्यार्थियों में उद्यामिता के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के साथ-साथ प्रतिभा और संपर्क से भी ज्यादा उपयोगकारी है, आत्मविश्वास और भविष्य उन्मुखी की ओर अग्रसर होना। इस ऑनलाइन संगोष्ठी में विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने शिरकत किया।

कंप्यूटर का ज्ञान होना आवश्यक

मंगलायतन विश्वविद्यालय द्वारा गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों के लिए एक सप्ताह का प्रशिक्षण सत्र आयोजित किया जा रहा है। कंप्यूटर साइंस एन्ड इंजिनीरिंग विभाग द्वारा आयोजित सत्र का विषय "बुनियादी कंप्यूटर साक्षरता और आवश्यक कौशल" है। कंप्यूटर साइंस विभाग के अध्यक्ष अभिषेक गुप्ता ने कंप्यूटर की महत्ता एवं वर्तमान समय में उसकी उपयोगिता पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि आज के युग में कंप्यूटर का ज्ञान होना आवश्यक है। इंटरनेट की मदद से हम एक दूसरों से जुड़े रहते हैं। संयोजक रैना सिंह ने कहा कि यह प्रशिक्षण सत्र बहुत लाभदायक साबित होगा। प्रवक्ता लव मित्तल ने कहा वर्तमान समय में कंप्यूटर सीखना सभी के लिए जरूरी है। इस दौरान डॉ रेखा रानी, उन्नी कृष्ण नायर, राजपाल, श्रद्धा बाजपेई, दीपक सिंह, दीपेंद्र रावत, रविंदर, राजेंद्र,  अंजू कुमारी आदि मौजूद थे।