लखनऊ-दिल्ली के बीच सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, पढ़िये- रेलवे का नया एलान

 

IRCTC IRCTC Good News: लखनऊ-दिल्ली के बीच सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, पढ़िये- रेलवे का नया एलान
 रेलवे अधिकारियों ने बताया कि एसी एक्सप्रेस में 10 सितंबर से इकोनामी एसी क्लास के कोच लगाए जाएंगे। यात्री इसमें सफर करने के लिए टिकट बुक करा सकते हैं। इसके साथ ही लखनऊ मेल में 15 सितंबर से यह सुविधा उपलब्ध होगी।

नई दिल्ली । देश की राजधानी दिल्ली से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बीच सफर करने वाले यात्रियों को जल्द ही कम पैसे में वातानुकूलित कोच में सफर करने का आनंद मिल सकेगा। रेलवे प्रशासन ने नई दिल्ली से लखनऊ के बीच चलने वाली विशेष एसी एक्सप्रेस और लखनऊ मेल में इकोनामी एसी क्लास के कोच लगाने का फैसला किया है। इसकी बुकिंग भी शुरू हो गई है। इसका किराया थर्ड एसी से कम होगा।

एसी एक्सप्रेस और लखनऊ मेल में लगेंगे इकोनामी एसी क्लास के कोच

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि एसी एक्सप्रेस में दस सितंबर से इकोनामी एसी क्लास के कोच लगाए जाएंगे। यात्री इसमें सफर करने के लिए टिकट बुक करा सकते हैं। इसके साथ ही लखनऊ मेल में 15 सितंबर से यह सुविधा उपलब्ध होगी। इन दोनों ट्रेनों में वातानुकूलित (एसी) श्रेणी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को अब तीन की जगह चार विकल्प मिलेंगे। अभी तक राजधानी व लंबी दूरी की अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों में फस्र्ट एसी, सेकंड एसी व थर्ड एसी कोच लगाए जाते हैं। जल्द ही इन ट्रेनों में भी इकोनामी एसी क्लास के कोच जोड़े जाएंगे।

थर्ड एसी से कम होगा किराया, यात्रा के लिए शुरू हो गई है बुकिंग

आरक्षण के लिए भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम की वेबसाइट व मोबाइल फोन ऐप पर और आरक्षण चार्ट पर इसे 3 ई कोड से इंगित किया जाएगा। वहीं, कोच के बाहरी हिस्से पर इसकी पहचान के लिए एम लिखा जाएगा। फर्स्ट एसी कोच पर एच, सेकंड एसी कोच ए और थर्ड एसी कोच पर बी लिखा रहता है। इस कोच में ज्यादा यात्री सफर कर सकेंगे और इसका किराया भी थर्ड एसी से कम होगा। यह कोच अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है।

आरसीएफ कपूरथला में तैयार हो रहे हैं कोच

रेल ल कोच फैक्ट्री (आरसीएफ) कपूरथला में ये कोच तैयार किए जा रहे हैं। इस वित्तीय वर्ष के अंत तक 248 कोच बनाने का लक्ष्य है। इकोनामी एसी कोच तैयार करने में 2.75 करोड़ रुपये लागत आई है। वहीं, थर्ड एसी कोच को बनाने में 3.85 करोड़ रुपये खर्च होते हैं।

83 यात्री सफर कर सकेंगे

थर्ड एसी कोच की तरह इसमें एक कंपार्टमेंट में आठ बर्थ होंगे, लेकिन पूरे कोच में यात्रियों की संख्या ज्यादा होगी। थर्ड एसी में 72 यात्री सफर करते हैं। वहीं, इस नई श्रेणी के कोच में 83 यात्री सफर कर सकेंगे। हाई वोल्टेज इलेक्ट्रिक स्विचगियर को कोच के भीतर से हटाकर इसके निचले हिस्से में लगाया है। इससे कोच में 11 अतिरिक्त बर्थ लग सके हैं।