पीएम नरेंद्र मोदी ने यहूदी नववर्ष रोश हशानाह की इजरायली प्रधानमंत्री और लोगों को बधाई दी

 

यह दो दिवसीय उत्सव होता है (फोटो : एएनआइ)
प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट इजरायल की जनता और दुनियाभर के यहूदियों को रोश हशानाह की बहुत बहुत शुभकामनाएं। यह दो दिवसीय उत्सव होता है जो प्रत्येक शरद ऋतु में यहूदी उच्च पवित्र दिनों की शुरुआत का प्रतीक है।

नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यहूदी नववर्ष रोश हशानाह की बधाई दी है। उन्होंने इस मौके पर इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट, इजरायल की जनता और दुनियाभर के यहूदियों को इसकी हार्दिक शुभकामनाएं दी हैं। रोश हशानाह का अर्थ है 'वर्ष का प्रमुख'। यह दो दिवसीय उत्सव होता है जो प्रत्येक शरद ऋतु में यहूदी उच्च पवित्र दिनों की शुरुआत का प्रतीक है।प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट, इजरायल की जनता और दुनियाभर के यहूदियों को रोश हशानाह की बहुत बहुत शुभकामनाएं।'

इजरायली पुलिस ने 6 फलस्तीनी कैदियों के खिलाफ छेड़ा तलाशी अभियान

फलस्तीनी कैदियों के कड़ी सुरक्षा वाली जेल से रातोंरात भागने के बाद इजरायली सेना ने कब्जे वाले पश्चिमी तट में कैदियों की तलाशी का अभियान छेड़ दिया है। अधिकारियों ने जानकारी दी कि रोड ब्लाक हटा दिए गए हैं और क्षेत्र में पेट्रोलिंग जारी है। इजरायल के आर्मी रेडियो के अनुसार, इस घटना के बाद कैदियों के भागने के डर से 400 कैदियों को शिफ्ट कर दिया है, जहां ये जेल अधिक सुरक्षा वाली हैं। रेडियो के मुताबिक, गिलबोया जेल से वह एक सुरंग के रास्ते भागे थे, जो कि इजरायल की सबसे सुरक्षित जेलों में से एक मानी जाती है। उम्मीद जताई जा रही है कि इन लोगों को निश्चित रूप से बाहरी मदद मिली है। पीएम नफ्ताली बेनेट ने इस घटना को बेहद घातक बताया है। माना जा रहा है कि फरार हुए कैदी जेनिन की ओर गए हैं जिसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय से फलस्तीनी प्रशासन का समर्थन हासिल है।