दिल्ली में हैवानियत का शिकार हुई युवती के घर पहुंचा दरगाह आला हजरत का प्रतिनिधि मंडल, परिजनों से की वार्ता

 

Delegation of Dargah Ala Hazrat दिल्ली में हैवानियत का शिकार हुई युवती के पहुंचा दरगाह आला हजरत का प्रतिनिधि मंडल
 दरगाह आला हजरत के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में हैवानियत का शिकार हुई युवती के मुरादाबाद स्थित आवास में स्वजनों से मुलाकात की। दरगाह प्रमुख मौलाना व सज्जादानशीन की सरपरस्ती में गए प्रतिनिधिमंडल ने परिवार वालों से बातचीत की।

बरेली, दरगाह आला हजरत के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में हैवानियत का शिकार हुई युवती के मुरादाबाद स्थित आवास में स्वजनों से मुलाकात की। दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रजा उर्फ सुब्हानी मियां व सज्जादानशीन मुफ्ती मुहम्मद अहसन रजा कादरी की सरपरस्ती में गए प्रतिनिधिमंडल ने परिवार वालों से बातचीत की। टीटीएस के प्रदेश महासचिव मौलाना जाहिद रजा ने युवती के लिए दुआएं मगफिरत की। कहा, दोषियों को सजा दिलाने के लिए तहरीक ए तहफ्फुज ए सुन्नियत (टीटीएस) दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष से मिलेगा। प्रतिनिधिमंडल में अजमल नूरी, शाहिद खां नुरी, औरंगजेब खां नूरी, परवेज खां नूरी, ताहिर अल्वी आदि मौजूद रहे।

दिल्ली में हुई हैवानियत के खिलाफ फूटा था गुस्सा

दिल्ली में युवती के साथ हुई हैवानियत और बर्बरता के खिलाफ शुक्रवार को शहर में लोगों का गुस्सा फूट पड़ा था। दरगाह आला हजरत के संगठन तहरीक ए तहफ्फुज सुन्नियत (टीटीएस) ने घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया था। दोषियों पर कार्रवाई के लिए राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसीएम को सौंपा है। टीटीएस के जिलाध्यक्ष मंजूर खाने के नेतृत्व में तमाम लोगों ने घटना का विरोध किया था।

उन्होंने बताया कि दिल्ली की 21 वर्षीय युवती के साथ चार-पांच लोगों ने घिनौनी हरकत की और फिर उसकी बर्बरतापूर्वक हत्या कर दी थी। घटना में युवती की एक दोस्त भी शामिल है, जिसने उन दरिंदों का साथ दिया। उन्होंने प्रदर्शन कर दोषियों को सख्त सजा दिलाए जाने की मांग की। इसके बाद टीटीएस का प्रतिनिधिमंडल कलक्ट्रेट पहुंचा। वहां एसीएम प्रथम से मिलकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन दिया था।

ज्ञापन में उन्होंने दुष्कर्म की घटनाओं के खिलाफ और सख्त कानून बनाने की मांग करते हुए कहा था कि कानून ऐसा बनाया जाए जिसमें दोषियों को सिर्फ फांसी की सजा का ही प्राविधान हो। इस कानून को सख्ती के साथ लागू किया जाए। उन्होंने मुल्क में बेटियों और महिलाओं की इज्जत के लिए सख्त कानून बनाने की मांग भी की।

इस दौरान मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी, मंजूर खान, अजमल नूरी, यूनुस गद्दी, इरशाद रजा, जुनैद अजहरी, नफीस खान, मुजाहिद रजा, अश्मीर रजा, सय्यद फरहत, जोहिब रजा, काशिफ सुब्हानी, निक्की बेग, गजाली, आसिफ रजा, सबलू अल्वी, आसिफ रजा आदि मौजूद रहे थे।