आत्‍महत्‍या करने के लिए पुल पर चढ़े युवक को पुलिस ने बचाया, कांग्रेस नेता अलका लांबा ने किया था वीडियो शेयर

 

एंड्रयूगंज फ्लाइओवर पर एक युवक ने आत्‍महत्‍या का प्रयास किया। प्रतीकात्‍मक फोटो
एंड्रयूगंज फ्लाइओवर पर शराब के नशे में ग्रिल पर खड़े होकर आत्महत्या का प्रयास कर रहे युवक को कोटला मुबारकपुर थाना पुलिस ने बचा लिया। युवक काफी समय से बेरोजगार था और आर्थिक संकट के कारण मानसिक रूप से परेशान था।

नई दिल्‍ली,  संवाददाता। एंड्रयूगंज फ्लाइओवर पर शराब के नशे में ग्रिल पर खड़े होकर आत्महत्या का प्रयास कर रहे युवक को कोटला मुबारकपुर थाना पुलिस ने बचा लिया। दरअसल, पास में ही रहने वाली कांग्रेस नेता अलका लांबा रविवार शाम करीब छह बजे अपनी छत पर टहल रही थीं। इस दौरान उन्होंने देखा कि एक युवक एंड्रूयजगंज फ्लाइओवर की रेलिंग पर चढ़ा हुआ है और कुछ बोल रहा है। देखने में ऐसा लग रहा था कि जैसे वह पुल से नीचे कूदकर जान देना चाहता है।

इस पर उन्होंने फोन करके मामले की सूचना पुलिस को दी। उन्होंने युवक की वीडियो भी बना ली जिसे बाद में ट्वीटर पर साझा किया। मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने युवक को बातों में उलझाकर उसे किसी तरह नीचे उतारा। एतहियात के तौर पर पुलिस की एक टीम फ्लाइओवर के नीचे जाल लेकर भी खड़ी था ताकि युवक कूद भी जाए तो उसे बचाया जा सके। युवक की पहचान उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिला निवासी जगत सिंह बिष्ट (40) के रूप में हुई है। फिलहाल वह बेरोजगार है और दिल्ली में खेलगांव इलाके में रहता है। काफी दिनों से नौकरी तलाश कर रहा था, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। 

युवक ने पुलिस को बताया कि बेरोजगारी के कारण वह मानसिक रूप से परेशान था। फ्लाइओवर की रेलिंग पर खड़ा होकर भी वह चिल्ला रहा था कि अपनी जिंदगी से परेशान है इसलिए वह आत्महत्या करना चाहता है। नौकरी जाने के कारण आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में रोजमर्रा का खर्च चला पाना भी मुश्किल हो रहा है। उधर, दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि पूछताछ व मेडिकल जांच के बाद युवक को उसके स्थानीय परिजनों के हवाले कर दिया गया। अगर समय रहते पुलिस मौके पर नहीं पहुंचती तो युवक को बचा पाना मुश्किल था। आर्थिक संकट के कारण युवक की मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं है।