जयपुर में NEET के बाद पुलिस सब इंस्‍पेक्टर परीक्षा का पेपर हुआ लीक, 24 आरोपी गिरफ्तार

 

जयपुर में पुलिस सब इंस्‍पेक्टर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक
 राजस्थान के जयपुर में सोमवार से शुरू हुई तीन दिवसीय पुलिस सब इंस्‍पेक्टर भर्ती परीक्षा का पर्चा पहले ही दिन लीक हो गया। पेपर लीक करने के बदले 5-5 लाख की मांग की थी। इस मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया है।

जयपुर,  संवाददाता। राजस्थान की राजधानी जयपुर में नीट परीक्षा 2021 का पेपर लीक होने के बाद अब पुलिस सब इंस्‍पेक्टर भर्ती परीक्षा  में नकल कराने वाले गिरोह का बड़ा खुलासा हुआ है। राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से सोमवार से शुरू हुई तीन दिवसीय सब इंस्‍पेक्टर भर्ती परीक्षा का पर्चा पहले ही दिन लीक हो गया । यह पेपर बीकानेर में एक निजी स्कूल के संचालक ने लीक किया। इसके बदले उसने तीन दिन तक पेपर लीक करने के बदले 5-5 लाख की मांग की थी। इसके लिए 3 लाख नकद अग्रिम भी दिए गए थे। हालांकि पहले ही दिन इस गिरोह का खुलासा हो गया। पुलिस सब इंस्‍पेक्टर भर्ती परीक्षा मामले में मंगलवार तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कुछ और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है ।

सोमवार रात से मंगलवार तक चली कार्रवाई

फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) के इनपुट के आधार पर राज्य के विभिन्न जिलों से 24 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ ही नकल कराने वाले बड़े गिरोह का खुलासा हुआ है । मंगलवार सुबह पुलिस ने कुछ और स्थानों पर दबीश देकर आधा दर्जन संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है । बीकानेर के रामपुरा में स्थित रामसहाय आदर्श माध्यमिक स्कूल में सब इंसपेक्टर की भर्ती परीक्षा का केंद्र बनाया गया है । सोमवार से बुधवार तक चलने वाली परीक्षा के पहले दिन कुछ युवकों ने मिलकर पेपर लीक करने की योजना बनाई । स्कूल संचालक दिनेश सिंह भी इस काम में शामिल हुआ। उसने युवकों से प्रतिदिन 5 लाख अर्थात तीन दिन के 15 लाख नकद मांगे। उसने युवकों से 3 लाख नकद अग्रिम भी ले लिए।

योजना के अनुसार परीक्षा शुरू होते ही पेपर निकालकर दिनेश सिंह ने वाट्सएप से गिरोह के सदस्य नरेश दान और नरेंद्र को भेज दिय। इस पर नरेंद्र ने अपने साथियों के साथ मिलकर पेपर को हल किया और फिर वापस दिनेश सिंह को वाट्सएप पर भेज दिया। नरेंद्र अपने साथियों के साथ एक घर में बैठा हुआ था। इसी बीच पुलिस ने मौके पहुंचकर उनके मोबाइल जब्त कर लिए। पूछताछ में उन्होंने पेपर लीक करने की बात स्वीकार की। पुलिस ने मंगलवार तक बीकानेर से 12 लोगों को गिरफ्तार किया है।

इसी तरह जयपुर में मूल परीक्षार्थियों के स्थान पर डमी उम्मीदवार बिठाने के मामले में जयपुर में अब तक 8 आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जयपुर के सहायक पुलिस आयुक्त प्रहलाद कृष्णियां ने बताया कि आरोपितों की मोबाइल चेटिंग की जांच में खुलासा हुआ है कि गिरोह के सरगना ने परीक्षा में पास कराने के बदले एक दर्जन परीक्षार्थियों से 15 से 20 लाख रूपए में सौदा किया था। इसके तहत डमी उम्मीदवारों को मूल परीक्षार्थी के स्थान पर बिठाना और नकल कराना शामिल है। पुलिस ने उदयपुर और पाली में 2-2 युवकों को गिरफ्तार किया गया है।