पंजाब में कल से बसाें का चक्का जाम, हड़ताल पर रहेंगे रोडवेज व PRTC के कच्चे मुलाजिम

 

पंजाब रोडवेज व पीआरटीसी के कच्चे मुलाजिम सोमवार से हड़ताल पर रहेंगे। (फाइल फाेटाे)
 हड़ताल करने वाले कर्मचारियों ने पक्के मुलाजिमों व विभाग के अधीन काम करने वालों को भी उनको सहयोग देने की अपील की है। वहीं बठिंडा डिपो में कुल 190 बसें हैं। इसमें 112 बसें पीआरटीसी की अपनी हैं तो 20 सिटी बसें हैं।

 संवाददाता, लुधियाना/बठिंडा/जगराओं। Punjab Bus Strike: पंजाब रोडवेज व पीआरटीसी के कच्चे मुलाजिम सोमवार से पक्के तौर पर हड़ताल पर जाएंगे। इस दौरान पूर्ण तौर पर बसों का चक्का जाम किया जाएगा। हालांकि पीआरटीसी ने पक्के मुलाजिमों से रूटीन की तरह बसों को चलाने का भरोसा दिया है। लेकिन कच्चे मुलाजिम कोई हंगामा न करे, इसको रोकने के लिए पीआरटीसी के बठिंडा डिपो के अधिकारियों की ओर से एसएसपी को पत्र लिखा गया है। कच्चे मुलाजिमों की ओर से पक्का करने की मांग को लेकर हड़ताल की गई है। हड़ताल का लुधियाना, बठिंडा सहित मालवा के कई जिलाें में असर देखने काे मिलेगा।

बठिंडा की डिपो की बात की जाए तो यहां पर कुल 210 ड्राइवर व 288 कंडक्टरों के अलावा 79 वर्कशाप के मुलाजिम हैं तो 24 एडवांस बुकर हैं। इसमें विभाग के पास पक्के मुलाजिमों में सिर्फ 28 ड्राइवर, 23 कंडक्टर व 10 वर्कशाप के कर्मी हैं जबकि 54 ड्राइवर, 74 कंडक्टर व 30 वर्कशाप कर्मी विभाग के अधीन काम कर रहे हैं। वहीं बाकी 128 ड्राइवर, 181 कंडक्टर, 39 वर्कशाप कर्मी व 24 एडवांस बुकर ठेकेदार के अधीन काम कर रहे हैं। लेकिन अब ठेकेदार के अधीन काम करने वाले सभी मुलाजिमों ने हड़ताल की चेतावनी दी है। ऐसे में देखा जाए तो बठिंडा में 60 फीसद स्टाफ ठेकेदार के अधीन काम करता है, जिसके चलते बसों का संचालन काफी हद तक प्रभावित हो सकता है। हालांकि अधिकारी दावा कर रहे हैं उनके द्वारा किसी भी बस सेवा को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा।

दूसरी तरफ हड़ताल करने वाले कर्मचारियों ने पक्के मुलाजिमों व विभाग के अधीन काम करने वालों को भी उनको सहयोग देने की अपील की है। वहीं बठिंडा डिपो में कुल 190 बसें हैं। इसमें 112 बसें पीआरटीसी की अपनी हैं तो 20 सिटी बसें हैं, जिनको अब ग्रामीण रूटों के अलावा छोटे रूटों पर चलाया जा रहा है। इसके अलावा 38 बसें किलोमीटर स्कीम, 5 ग्रामीण, 7 ग्रामीण किलोमीटर स्कीम व 8 एचवीएसी बसें हैं। जिनका अब संचालन प्रभावित हो सकता है।

पुलिस से मांगा है सहयोगः जीएम रमन शर्मा

कच्चे मुलाजिमों की ओर से जो हड़ताल की जा रही है वह गैर कानूनी है। इसके लिए ड्राइवरों व कंडक्टरों पर कार्रवाई भी की जाएगी। जबकि उनके द्वारा तो हड़ताल की ही जाएगी, लेकिन पक्के मुलाजिमों से बसों का संचालन करवाया जाएगा। अगर इनको किसी ने रोकने के कोशिश की तो उसके लिए पुलिस का सहयोग लिया जाएगा। इसको लेकर एसएसपी को पत्र भी लिखा गया है। लेकिन पीअारटीसी की बस सर्विस को बंद नहीं होने दिया जाएगा।-रमन शर्मा, जीएम, पीआरटी, बठिंडा डिपो।