पटियाला में TET Exam की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों ने लगाई नहर में छलांग, गोताखोरों ने बचाया

 


पटियाला में ईटीटी और बीएड पास यूनियन के सदस्यों ने नहर में छलांग लगा दी है।
ईटीटी और बीएड पास यूनियन के सदस्यों ने कहा कि पिछले तीन सालों दौरान सरकार ने एक बार भी टीईटी परीक्षा नहीं ली है। सरकार ने अब भर्ती के लिए पोस्टें भी निकाल दी हैं लेकिन परीक्षा नहीं ली जा रही है।

 संवाददाता, पटियाला। ईटीटी और बीएड पास यूनियन के दो सदस्याें ने टीईटी (टीचर एजिबिल्टी टेस्ट) परीक्षा की मांग को लेकर यहां नहर में भी छलांग लगा दी। हालांकि उन्हें नहर किनारे खड़े सतर्क गोताखोरों ने समय रहते सही सलामत बाहर निकाल लिया गया है। इसके साथ ही यूनियन के अन्य सदस्यों ने पसियाणा नहर पर बने पुल पर धरना लगाकर रोड ब्लाक कर दिया। वहीं, अन्य सदस्यों ने भी मांगें पूरी ना होने की सूरत में नहर में छलांग लगा दी है।

प्रदर्शन कर रहे बेरोजगारों ने कहा कि पिछले तीन सालों दौरान सरकार की तरफ से एक बार भी टीईटी परीक्षा नहीं ली गई। सरकार ने अब भर्ती के लिए पोस्टें भी निकाल दी हैं लेकिन परीक्षा नहीं ली जा रही है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक सरकार की तरफ से टीईटी परीक्षा नहीं ली जाती, तब तक वे प्रदर्शन करते रहेंगे। 

एक सप्ताह से खंडा चौक में जारी है धरना

पिछले एक हफ्ते से टीईटी परीक्षा की मांग को लेकर यूनियन ने पटियाला के खंडा चौक में धरना लगाया है। अभी तक कोई भी सुनवाई ना होने से उनमें रोष है। इसके विरोध में सोमवार को दोपहर यूनियन के सदस्यों ने फव्वारा चौक तक रोष मार्च निकाला। इस दौरान पुलिस प्रशासन को चकमा देते हुए यूनियन के कुछ सदस्य पसियाणा भाखड़ा नहर पर पहुंच गए और वहां धरना लगाकर पंजाब सरकार खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। गाैरतलब है कि पंजाब में 2022 में हाेने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कर्मचारी संगठनाें ने सरकार पर मांगाें काे लेकर दबाब बनाना शुरू कर दिया है। इसके तहत कई कर्मचारी संगठन धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।