भारत ने ब्रिटिश नागरिकों पर लगाए गए यात्रा पाबंदियों को वापस लिया, अब नहीं रहना होगा 10 दिन क्वारंटाइन

 

भारत ने ब्रिटिश नागरिकों पर लगाए गए यात्रा पाबंदियों को वापस लिया।
भारत ने कोरोना महामारी को लेकर ब्रिटिश नागरिकों पर लगाए गए यात्रा पाबंदियों को वापस ले लिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने बताया है कि एक अक्टूबर 2021 को भारत आने वाले ब्रिटिश नागरिकों के लिए जारी संशोधित दिशानिर्देश को वापस ले लिया गया है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। ब्रिटिश नागरिकों को अब भारत आने पर 10 दिन अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन नहीं रहना होगा। न ही उन्हें भारत आने पहले और यहां पहुंचने के बाद टेस्ट करना होगा। भारत सरकार ने बुधवार को कोरोना महामारी को लेकर ब्रिटिश नागरिकों पर लगाए गए यात्रा पाबंदियों को वापस ले लिया। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने बताया है कि एक अक्टूबर 2021 को भारत आने वाले ब्रिटिश नागरिकों के लिए जारी संशोधित दिशानिर्देश को वापस ले लिया गया है। भारत आने वाले अन्य अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए 17 फरवरी 2021 को जारी दिशानिर्देश इनके लिए भी लागू होगा। 

बता दें कि ब्रिटेन द्वारा भारतीयों पर लगाए गए प्रतिबंधों के बाद भारत ने भी जवाबी कार्रवाई की थी। इन यात्रा प्रतिबंधों में भारत आने पर 10 दिन का अनिवार्य क्वारंटाइन और यात्रा से पहले और यहां पहुंचने के बाद टेस्ट कराने जैसी शर्तें शामिल थीं। ऐसे में यात्रा को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। फिर यात्रा को सहज बनाने पर सहमति बनने के बाद ब्रिटेन ने भारतीय यात्रियों के लिए 10 दिन के अनिवार्य क्वारंटाइन को खत्म करने की घोषणा की। 

ब्रिटेन ने पिछले हफ्ते एलान किया था कि 11 अक्टूबर के बाद से कोविशील्ड या उसकी तरफ से मंजूरी दूसरी वैक्सीन की सभी डोज लगवाने वाले भारतीयों को 10 दिन के अनिवार्य क्वारंटाइन में नहीं रहना होगा। ब्रिटेन के इस फैसले के बाद अब भारत ने भी ब्रिटिश नागरिकों को लेकर यात्रा पाबंदियों को वापस ले लिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस सबंध में नए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। ऐसे में अब ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य कोरोना जांच और क्वारंटाइन के नियमों को खत्म कर दिया गया।