कांग्रेस में उथल-पुथल, इस महीने के अंत में हो सकती है सीडब्ल्यूसी की बैठक, जी-23 नेताओं ने की थी मांग


इस महीने के अंत में हो सकती है सीडब्ल्यूसी की बैठक।

 पार्टी में जारी खींचतान के बीच इस महीने के अंत में कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक बुलाई जा सकती है। पार्टी से नाराज चल रहे जी-23 के सदस्यों सहित कई अन्य नेताओं ने पार्टी में उथल-पुथल को लेकर आंतरिक विचार-विमर्श के लिए बैठक बुलाने की मांग की थी।

नई दिल्ली, पीटीआइ। कांग्रेस पार्टी में जारी खींचतान के बीच इस महीने के अंत में कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक बुलाई जा सकती है। पार्टी से नाराज चल रहे जी-23 के सदस्यों सहित कई अन्य नेताओं ने पंजाब समेत अन्य राज्यों में पार्टी में जारी उथल-पुथल को लेकर आंतरिक विचार-विमर्श के लिए कार्य समिति की बैठक बुलाने की मांग की थी। इस बीच सूत्रों ने बुधवार को जानकारी दी कि महीने के अंत में बैठक बुलाई जा सकती है।

हालांकि, अभी कोई तारीख तय नहीं की गई है, लेकिन सूत्रों ने कहा कि पार्टी की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था सीडब्ल्यूसी पार्टी के आंतरिक मामलों पर चर्चा के लिए इस महीने बैठक कर सकती है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी पहले ही संकेत दे चुकी हैं कि जल्द ही सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाई जाएगी और आंतरिक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

पार्टी के वरिष्ठ नेता और जी -23 समूह का हिस्सा गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल संगठनात्मक सुधार की मांग कर रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि पार्टी के आंतरिक मुद्दों पर चर्चा के लिए सीडब्ल्यूसी की तुरंत बैठक बुलाई जाए। पंजाब सहित कई राज्य इकाइयों में उथल-पुथल मची हुई है।

आजाद ने इस संबंध में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी पत्र लिखकर सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाने की मांग की थी। उन्होंने कहा है कि पार्टी को सुझावों का स्वागत करना चाहिए न कि उन्हें दबाना चाहिए। सिब्बल ने हाल ही में एक नियमित अध्यक्ष की अनुपस्थिति में पार्टी में निर्णय लेने की प्रक्रिया पर भी सवाल उठाए थे और एक संवाद की मांग की थी, जहां सभी वरिष्ठ नेताओं को सुना जाए। आजाद और कुछ अन्य जी-23 नेता सीडब्ल्यूसी का हिस्सा हैं, जबकि सिब्बल नहीं हैं। ध्यान रहे कि कांग्रेस को अपने नए नियमित अध्यक्ष का चुनाव भी करना है और बैठक में चुनाव कार्यक्रम पर चर्चा होने की संभावना है।