प्रयागराज में डेंगू हुआ बेलगाम, डीएम ने कहा- ब्‍लड बैंक में प्‍लेटलेट्स 24 घंटे उपलब्‍ध रहे

 

प्रयागराज में बढ़ते डेंगू के प्रकोप को देखते हुए जिलाधिकारी ने सख्‍त निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने निर्देशित किया कि प्लेटलेट्स 24 घंटे उपलब्ध रहना चाहिए। उसमें कहीं से कोई कमी नहीं आनी चाहिए। सभी अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरा सक्रिय रखने और सभी अस्पतालों में पेयजल की व्यवस्था करने को कहा। इमरजेंसी वार्डों में डाक्टरों को नियमित निगरानी करने को कहा।

प्रयागराज,  संवाददाता। प्रयागराज में डेंगू का प्रकोप कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। प्रतिदिन मरीजों की संख्‍या बढ़ ही रही है। वहीं बुधवार को सहसों में एक युवक की डेंगू से मौत हो गई। बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन अधिक सक्रिय हो गया है। जिलाधिकारी ने मातहतों को निर्देशित किया है कि अस्‍पतालों में डेंगू के मरीजों के लिए व्‍यवस्‍था दुरुस्‍त रहे। वहीं इस बीमारी में प्‍लेट्स की आवश्‍यकता होती है। ऐसे में डीएम ने ब्‍लड बैंकों में प्‍लेटलेट्स की व्‍यवस्‍था रखने का निर्देश दिया है।

इस सीजन के सर्वाधिक एक दिन में डेंगू के 47 मरीज

जानकारों की मानें तो हल्‍के ठंड के इस मौसम में डेंगू का प्रकोप समाप्‍त हो जाना चाहिए था। हालांकि ऐसा नहीं हुआ बल्कि डेंगू का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को इस सीजन के सबसे अधिक 47 मामले आए। डीएम संजय कुमार खत्री ने डेंगू के रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा बैठक की। उन्‍हाेंने अस्पतालों में साफ-सफाई की व्यवस्था बेहतर करने को कहा। स्वरूपरानी अस्पताल में डेंगू के मरीजों की जानकारी भी जिलाधिकारी ने ली। साथ ही प्राइवेट अस्पतालों में रैपिड के कितने मरीज आए है, कितने स्‍वस्‍थ हुए, इसकी भी जानकारी ली। सही जानकारी न दे पाने के कारण उप मलेरिया अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि दी।

जिलाधिकारी ने दिए ये निर्देश

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि प्लेटलेट्स 24 घंटे उपलब्ध रहना चाहिए। उसमें कहीं से कोई कमी नहीं आनी चाहिए। सभी अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरा सक्रिय रखने और सभी अस्पतालों में पेयजल की व्यवस्था करने को कहा। इमरजेंसी वार्डों में डाक्टरों को नियमित निगरानी करने को कहा। नगर निगम की टीमों को भी सक्रिय रहकर साफ-सफाई, छिड़काव आदि कराने को कहा। कार्य में लापरवाही पाए जाने पर चांदपुर सलोरी के मलेरिया इंस्पेक्टर को प्रतिकूल प्रविष्टि और छोटा बघाड़ा, म्योराबाद के मलेरिया इंस्पेक्टरों से स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने को कहा। ग्रामीण क्षेत्रों में जहां भी डेंगू के मामले बढ़े हैं, वहां के ग्राम सचिवों को भी स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिया। एंटीलार्वा स्प्रे, पायरेथ्रम स्प्रे आदि का निरंतर छिड़काव करने को कहा। बैठक में सीडीओ शिपू गिरि, मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य डा. एसपी ङ्क्षसह, सीएमओ डा. नानक सरन आदि उपस्थित थे।