दिल्ली में निगम चुनाव जीतने के लिए भाजपा ने बनाया ये प्लान, 27 सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं को सौंपी जिम्मेदारी

 

जमीन पर उतरेंगे भाजपा के 27 सौ से ज्यादा समर्पित कार्यकर्ता
भाजपा की नजर नगर निगम चुनाव में चौथी बार परचम लहराने पर है। इसके लिए संगठनतामक गतिविधियों में तेजी लाई जा रही है। बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत बनाने के लिए समर्पित कार्यकर्ताओं की फौज तैयार की जा रही है।

नई दिल्ली । नगर निगम चुनाव को ध्यान में रखकर भाजपा ने बूथ प्रबंधन की तैयारी शुरू कर दी है। इस काम को आगे बढ़ाने के लिए अल्पकालिक विस्तारक मैदान में उतारे जा रहे हैं। चयन के बाद उन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है और सात अक्टूबर से बूथ स्तर पर अपना काम शुरू कर देंगे। भाजपा के रणनीतिकारों का मानना है कि अल्पपकालिक विस्तारक नगर निगम चुनाव में जीत की राह आसान करने के लिए पार्टी के लिए मजबूत आधार तैयार करेंगे।

भाजपा की नजर नगर निगम चुनाव में चौथी बार परचम लहराने पर है। इसके लिए संगठनतामक गतिविधियों में तेजी लाई जा रही है। बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत बनाने के लिए समर्पित कार्यकर्ताओं की फौज तैयार की जा रही है। इन्हें अल्पकालिक विस्तारक का नाम दिया गया है। एक विस्तार के जिम्मे एक शक्ति केंद्र (चार से पांच बूथ) होगा। इसके लिए 27 सौ से अधिक विस्तारक तैयार किए जा रहे हैं।

पिछले दिनों लगभग 22 विस्तारकों का प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष शामिल हुए। अब प्रत्येक जिले में इन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिससे कि संगठन के पदाधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल के साथ काम किया जा सके। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता का कहना है कि अल्पकालिक विस्तारकों का काम संगठन के लिए दीर्घकालिक होगा। इनकी मेहनत से पार्टी और मजबूत होगी।

युवाओं को दी जा रही है तरजीह

अल्पकालिक विस्तारकों के चयन में युवाओं को प्राथमिकता दी जा रही है। यह कोशिश है कि 35 वर्ष तक के कार्यकर्ताओं को यह जिम्मेदारी दी जाए। उन्हें उसी क्षेत्र में तैनात किया जा रहा है जहां के वे रहने वाले हैं। नेताओं का कहना है कि कार्यकर्ता अपने आसपास की समस्याओं, वहां की जरूरत को बेहतर तरीके से जानता है, इसलिए विस्तारकों की तैनाती में इसका ध्यान रखा जा रहा है।

क्षेत्र में करेंगे पांच काम

लगभग पांच बूथ की जिम्मेदारी संभालने वाले अल्पकालिक विस्तार रोज पांच घंटे संगठन को समर्पित करेंगे। उन्हें पांच काम सौंपा गया है। एक माह तक वह क्षेत्र में रहकर उन्हें नमो एप डाउनलोड कराना, कार्यकर्ता कनेक्ट एप डाउनलोड कराना, वाट्सएप ग्रुप बनाना, बूथ कार्यकारिणी का गठन करना, पन्ना प्रमुखों को मजबूत करने के लिए काम करना होगा।