आगरा मंडल की सड़कों पर 50 हजार गड्ढे, विभागों की लापरवाही से लोग परेशान

 

सड़क में गड्ढों की वजह से लोग हो रहे हैं हादसों का शिकार।
नगर निगम लोक निर्माण विभाग समेत विभिन्न विभाग हर साल सड़कों के निर्माण और मरम्मत पर करोड़ों रुपये खर्च करते हैं लेकिन फिर भी गड्ढों से निजात नहीं मिल पा रही है।जिम्मेदार अफसर बने हुए हैं लापरवाह। अपर मुख्य सचिव ने जताई नाराजगी। 30 तक गड्ढे भरने के आदेश।

आगरा, संवाददाता। नगर निगम, लोक निर्माण विभाग समेत विभिन्न विभाग हर साल सड़कों के निर्माण और मरम्मत पर करोड़ों रुपये खर्च करते हैं, लेकिन फिर भी गड्ढों से निजात नहीं मिल पा रही है। सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता को लेकर चलने वाले घालमेल का आलम यह है कि आगरा मंडल में बारिश से सड़कों में 50 हजार गड्ढे हो गए हैं। जिसके चलते लोग हादसों के शिकार हो रहे हैं।

एक बार सड़क बनने के बाद खराब होने पर जिम्मेदार न तो सुनते हैं और न ही कोई खैर-खबर ली जाती है। लोग गिरते रहें, चुटैल होते रहें, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ता। अपर मुख्य सचिव, नगर विकास रजनीश दुबे ने सड़कोें के गड्ढों को लेकर नाराजगी व्यक्त की है। 30 अक्टूबर तक इन गड्ढों को भरने के आदेश दिए हैं। नियमित रूप से प्रगति रिपोर्ट संबंधित विभागीय अधिकारी को कमिश्नर के माध्यम से भेजने को कहा है। आगरा में 19 हजार, फीरोजाबाद में 14 हजार, मथुरा में साढ़े नौ हजार, मैनपुरी में साढ़े सात हजार गड्ढे हैं। अपर मुख्य सचिव, नगर विकास रजनीश दुबे ने इन गड्ढों को भरने के लिए विगत 19 सितंबर को आदेश किया था, इसके बाद भी जिम्मेदार विभागों ने रुचि नहीं ली। जिन सड़कों में गड्ढे हैं, उनमेें से अधिकांश ऐसी हैं, जिनका निर्माण पिछले छह माह में हुआ है। ऐसे में इन सड़कों में घालमेल के लिए संबंधित इंजीनियर व ठेकेदार जिम्मेदार हैं पर उनको चिह्नित न करके विभागीय अधिकारी केवल गड्ढे भरवा रहे हैं। अब सड़कों में गड्ढों की मरम्मत की निगरानी मंडलायुक्त अमित गुप्ता द्वारा की जा रही हैं। वहीं लोक निर्माण विभाग, नगर निगम सहित अन्य विभागों द्वारा अभी तक 36 करोड़ रुपये से 137.67 किमी लंबी सड़क का निर्माण और मरम्मत की जा चुकी है।मंडलायुक्त अमित गुप्ता ने बताया कि निर्धारित अवधि के भीतर सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए कहा गया है। हर दिन की रिपोर्ट भी मांगी जाएगी। यदि किसी सड़क के निर्माण में किसी की लापरवाही उजागर होती है तो कार्रवाई होगी।

सप्ताह में पांच से सात पहुंचती हैं शिकायतें

मंडलायुक्त कार्यालय में रोड का निर्माण या फिर मरम्मत न होने की हर सप्ताह पांच से सात शिकायतें पहुंचती हैं। मंडलायुक्त द्वारा इन्हें संबंधित विभाग के अफसरों के पास भेज दिया जाता है।

अभी तक नहीं बनी है कैलाशपुरी और लोहामंडी सड़क

नगर निगम प्रशासन द्वारा मदिया कटरा से कैलाशपुरी रोड और लोहामंडी सड़क का निर्माण अभी तक नहीं किया गया है। इस सड़क पर एक-एक फीट तक के गड्ढे हैं। पार्षद शरद चौहान ने बताया कि सड़क की मरम्मत का प्रस्ताव तैयार हो गया है। वहीं मुगल रोड, गढ़ी भदौरिया सड़क का भी निर्माण नहीं किया गया है।

कई सड़कों को किया गया गड्ढामुक्त

नगर निगम के मुख्य अभियंता, सिविल बीएल गुप्ता ने बताया कि बाईंपुर सड़क, कमला नगर सड़क, आवास विकास कालोनी सेक्टर एक, सात, जयपुर हाउस सड़क, ताजगंज क्षेत्र की दो सड़कों को गड्ढामुक्त किया जा चुका है।

सड़क की मरम्मत पर विशेष ध्यान

लोक निर्माण विभाग, आगरा परिक्षेत्र के मुख्य अभियंता संजीव भारद्वाज ने बताया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़क का निर्माण और मरम्मत कार्य तेजी से कराया जा रहा है।