नवरात्रि पर 5 करोड़ के नोटों से सजाया गया माता का दरबार, आंध्र प्रदेश के इस मंदिर ने मोह लिया भक्तों का दिल

 

2,000 रुपये, 500 रुपये, 200 रुपये, 100 रुपये, 50 रुपये और 10 रुपये के नोट से सजाया
आयोजकों ने देवता को मुद्रा नोटों से बने ओरिगेमी फूलों की माला और गुलदस्ते से सजाया है। विभिन्न रंगों के करेंसी नोटों ने मंदिर की सुंदरता में इजाफा किया है मंदिर की सुंदरता को देखकर लोग काफी आकर्षित हो रहे हैं।

हैदराबाद, आइएएनएस। नवरात्रि सीजन के चलते मंदिरों में इन दिनों काफी चहल पहल है। इस दौरान मंदिरों की विशेष सजावट की जा रही है। इसी क्रम में आंध्र प्रदेश के एक मंदिर की सजावट आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। मंदिर को पांच करोड़ रुपये से अधिक के नोटों से सजाया गया है। नेल्लोर जिले के वासवी कन्याका परमेश्वर मंदिर में देवता को 5.16 करोड़ रुपये के करेंसी नोटों से सजाया गया है। यह सजावट 100 से ज्यादा स्वयंसेवकों ने मिलकर की है, जिसमें कई घंटों का समय लगा है। मंदिर को सजाने के लिए 2,000 रुपये, 500 रुपये, 200 रुपये, 100 रुपये, 50 रुपये और 10 रुपये के नोट का उपयोग किया गया है।

आयोजकों ने देवता को मुद्रा नोटों से बने ओरिगेमी फूलों की माला और गुलदस्ते से सजाया है। विभिन्न रंगों के करेंसी नोटों ने मंदिर की सुंदरता में इजाफा किया है, मंदिर की सुंदरता को देखकर लोग काफी आकर्षित हो रहे हैं। नवरात्रि में बड़ी संख्या में भक्त धन की देवी 'धनलक्ष्मी' के 'अवतार' में देवता की पूजा करते हैं। नेल्लोर शहरी विकास प्राधिकरण (एनयूडीए) के अध्यक्ष और मंदिर समिति के सदस्य मुक्कला द्वारकानाथ के अनुसार, समिति ने हाल ही में मंदिर के नवीनीकरण कार्यों को पूरा किया, जिसमें 11 करोड़ रूपये का खर्च आया है।

उन्होंने कहा, चार साल तक चलने वाले जीर्णोद्धार कार्यों के पूरा होने के बाद यह पहला उत्सव है, इसलिए समिति ने मुद्रा नोटों के साथ देवता को सजाने का फैसला किया। समिति के सदस्यों और भक्तों ने नए नोट एकत्र किए और अनूठी सजावट के लिए कलाकारों को इस काम के लिए चुना। समिति ने दशहरा समारोह के हिस्से के रूप में सात किलो सोने और 60 किलो चांदी के साथ देवता को सजाने की भी योजना बनाई है, हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब किसी मंदिर को मुद्रा नोटों से सजाया गया हो। तेलंगाना के जोगुलम्बा गडवाल जिले में कन्याका परमेश्वरी मंदिर को 1,11,11,111 रुपये के करेंसी नोटों से सजाया गया था। 2017 में, मंदिर समिति ने 3,33,33,333 रुपये के करेंसी नोटों के साथ इसी तरह की व्यवस्था में प्रसाद चढ़ाया था।