बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान भड़की हिंसा, तीन की मौत और 60 घायल

 

घायलों में पत्रकार, पुलिसकर्मी और आम लोग शामिल हैं
चांदपुर के हाजीगंज उपजिला में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान हिंसा भड़क गई। ढाका ट्रिब्यून के मुताबिक बुधवार को उस वक्त यह हादसा हुआ जब हिंदु समुदाय के लोग दुर्गा पूजा का त्योहार मना रहे थे। इसमें तीन लोगों की मृत्यु हो गई और 60 लोग घायल हुए हैं।

ढाका, एएनआइ। बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंसा भड़कने से हादसा हो गया। इसमें तीन लोगों की मृत्यु हो गई और 60 लोग घायल हो गए हैं, जिसमें पत्रकार, पुलिसकर्मी और आम लोग शामिल हैं। चांदपुर के हाजीगंज उपजिला में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान हिंसा भड़क गई। ढाका ट्रिब्यून के मुताबिक बुधवार को उस वक्त यह हादसा हुआ जब हिंदु समुदाय के लोग दुर्गा पूजा मना रहे थे।

इससे पहले कमिला जिले के नानुआ दिघिरपार में दुर्गा पूजा के पंडाल में एक भीड़ द्वारा तोड़-फोड़ मचाई गई थी। डेली स्टार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां कुरान के अपमान की अफवाह फैला दी गई थी, जिसके बाद ये घटना हुई थी। इस हादसे में कम से कम 50 लोग घायल हुए थे।

बताया जा रहा है कि यहां कई इलाकों में दुर्गा पूजा के पंडालों पर हमले किए गए हैं। इस दौरान तोड़फोड़ भी की गई। सबसे ज्यादा हमले कमिला जिले में हुए हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, कथित तौर पर एक पूजा स्थल पर कुरान के अपमान के बाद यह हिंसा हुई थी। बताया गया कि चांदपुर के हाजीगंज, चट्टोग्राम के बंशखली, चपैनवाबगंज और काक्स बाजार के पेकुआ में हुई हिंसा में मंदिरों में हमले किए गए।

डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, स्थिति को नियंत्रित करने के लिए जिले के उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक ने स्थानीय हिंदू समुदाय और अन्य लोगों के साथ सुबह करीब 10 बजे बैठक की। तब तक विभिन्न मुस्लिम धार्मिक संगठनों के बैनर तले कई समूह नानुआ दिघिरपार में जमा हो गए। डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय लोगों और पुलिस ने बताया कि जिस वक्त यह बैठक चल रही थी, उसी समय भीड़ ने सुबह करीब साढ़े 10 बजे पंडाल पर हमला कर दिया। बांग्लादेश के सुरक्षा अधिकारियों ने घटनास्थल पर अर्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया है।