कोरोना महामारी के कारण रूस में हालत खराब, एक दिन में रिकार्ड मौतें, टीकाकरण की रफ्तार धीमी

कोरोना महामारी के कारण रूस में हालत खराब। (फाइल फोटो)
रूस में कोरोना महामारी के कारण हालत खराब है। देश में महामारी की शुरुआत के बाद बुधवार को एक दिन में रिकार्ड मरीजों की मौत हुई। सरकारी कोरोना वायरस टास्क फोर्स ने पिछले 24 घंटों में 984 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत की सूचना दी।

मास्को, एपी। रूस में कोरोना महामारी के कारण हालत खराब है। देश में महामारी की शुरुआत के बाद बुधवार को एक दिन में रिकार्ड मरीजों की मौत हुई। सरकारी कोरोना वायरस टास्क फोर्स ने पिछले 24 घंटों में 984 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत की सूचना दी। यहां टीकाकरण दर काफी धीमी है और प्रतिबंधों को भी कड़ा नहीं किया जा रहा है। देश ने पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना संक्रमण से रोजाना रिकार्ड लोगों की मौत हो रही है। संक्रमण दर अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। देश में बुधवार को 28 हजार 717 नए मामलों की पुष्टि हुई।

क्रेमलिन ने बढ़ते संक्रमण और मौतों के लिए कमजोर टीकाकरण दर को जिम्मेदार ठहराया है। प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तीन ने मंगलवार को कहा कि लगभग चार करोड़ 30 लाख या देश के लगभग 29 फीसद लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो गया है। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने टीकाकरण दर में तेजी लाने की आवश्यकता पर जोर दिया है, लेकिन उन्होंने प्रशासनिक दबाव डालकर लोगों को टीका लगवाने के लिए मजबूर करने के प्रति भी आगाह किया है। 

राष्ट्रव्यापी लाकडाउन लागू करने की बात खारिज

विशेषज्ञों ने टीकाकरण की धीमी गति के लिए वैक्सीन को लेकर संदेह और दुष्प्रचार को जिम्मेदार ठहराया है। क्रेमलिन ने राष्ट्रव्यापी लाकडाउन लागू करने की बात को खारिज कर दिया। महामारी की शुरुआत के दौरान लाकडाउन लगने के बाद अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से प्रभावित किया था और पुतिन की रेटिंग भी प्रभावित हुई थी।

देश में 78 लाख मामले अबतक सामने आए

स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा कि रूस के अस्पताल में भर्ती दो लाख 35 हजार रोगियों में से 11% की हालत गंभीर बनी हुई हैं। कुल मिलाकर रूस के कोरोना वायरस टास्क फोर्स के अनुसार देश में 78 लाख मामले अबतक सामने आ गए हैं और दो लाख 19 हजार 329 लोगों की मौत हो गई ह

ै।