करवा चौथ के दिन व्रत रखने वाली महिलाएं गलती से भी न करें ये काम

 

Karva Chauth 2021: करवा चौथ व्रत शुरू, जानिये- व्रत पूजा के साथ आपके शहर में चांद निकलने का समय

 करवा चौथ पर सुहागिन महिलाओं ने रविवार सुबह से ही पति की लंबी उम्र की कामना के साथ निर्जला व्रत रखा है। इस दौरान दिनभर खाना-पीना वर्जित होता है यह वजह है कि यह हिंदुओं के सबसे कठिन व्रत में शुमार है।

नई दिल्ली,  डिजिटल डेस्क। करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं के लिए यह त्योहार बेहद अहम आता है। ऐसे में करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को यह ध्यान रखना चाहिए कि वह ऐसा कोई भी अशुभ काम नहीं करें, जिससे उन्हें व्रत का पूरा लाभ और फल नहीं मिले। हम यहां पर बता रहे हैं कि व्रत रखने वाली महिलाओं को कौन से काम नहीं करने चाहिए। 

सफेद वस्तुओं का दान होता है वर्जित

सुहागिन महिलाओं को करवा चौथ व्रत के दिन भूलकर भी सफेद वस्तुओं का दान नहीं करना चाहिए। इस दिन सफेद कपड़ों के अलावा दूध, चावल, दही के अलावा सफेद मिठाई का भी दान नहीं करना चाहिए।

सिलाई कढ़ाई भी नहीं करनी चाहिए

करवा चौथ के व्रत वाले दिन सुहागिन महिलाओं को घर पर सिलाई-कढ़ाई का काम भूलकर भी नहीं करना चाहिए। इस दिनऐसा करना अशुभ होता है।  

काले कपड़े भी न करें धारण

करवा चौथ व्रत के दिन किसी भी पूजा के दौरान सुहागिन महिलाएं को चाहिए कि वे काले और भूरे रंग के कपड़े न धारण करें।

वाणी पर रखें संयम

व्रत को यूं भी संयम का दूसरा नाम दिया जाता है। इस दिन खासतौर पर बुरे और अपशब्द का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। मन पर पूरी तरह से काबू रखें और किसी से विवाद भी न करें।

गौरतलब है कि  उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, मध्य प्रदेश, बिहार और राजस्थान के साथ अब यह पूरे देश में करोड़ों महिलाओं द्वारा मनाया जा रहा है।  जानकारों के अनुसार, करवा चौथ पर सुहागिन महिलाओं ने रविवार सुबह से ही पति की लंबी उम्र की कामना के साथ निर्जला व्रत रखा है। इस दौरान दिनभर खाना-पीना वर्जित होता है, यह वजह है कि यह हिंदुओं के सबसे कठिन व्रत में शुमार है। 

कब होगी करवा चौथ की पूजा

सुहागिन महिलाओं के लिए खास इस व्रत को सौभाग्य, सुख और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। इस दिन सुहागिन महिलाएं व्रत की कड़ी में पूजा में शिव परिवार और भगवान गणपति आराधना करती हैं, इसलिए करवा चौथ त्योहार पर पूजा का विशेष महत्व होता है।

यहां पढ़िये- दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों में कब निकलेगा चांद

  • दिल्ली- 8 बजकर 8 मिनट
  • नोएडा और गाजियाबाद में चांद निकलने का समय रविवार शाम 8 बजकर 7 मिनट होगा।

    गुरुग्राम और में रविवार शाम 8 बज कर 8 मिनट पर चांद नजर आएगा।

  • आगरा- 8 बजकर 7 मिनट
  • मेरठ- 8 बजकर 5 मिनट
  • लखनऊ- 7 बजकर 56 मिनट
  • गोरखपुर- 7 बजकर 47 मिनट
  • मथुरा- 8 बजकर 8 मिनट
  • बरेली- 7 बजकर 59 मिनट
  • सहारनपुर- 8 बजकर 3 मिनट
  • रामपुर- 8 बजे
  • इटावा- 8 बजकर 5 मिनट
  • फर्रुखाबाद-08 बजकर 1 मिनट
  • जौनपुर- 7 बजकर 52 मिनट

 जानिये- ये अहम बातें

  • अमृत मुहूर्त सुबह 10 बजकर 40 मिनट से दोपहर 12 बजकर 5 मिनट तक होगा, इस दौरान कुलदेवता/ कुलदेवी पूजन होता है।
  • रविवार दोपहर 1 बजकर 29 मिनट से 2 बजकर 54 मिनट तक शिव परिवार पूजन के पूजन का शुभ मुहूर्त है।
  • करवा चौथ व्रत के अंतिम चरण में कथा पूजन का शुभ मुहूर्त रविवार शाम 5 बजकर 43 मिनट से 7 बजकर 18 तक रहेगा।
  • इंद्र इंद्राणी और चंद्र पूजन के लिएअमृत मुहूर्त 7 बजकर 18 मिनट से  8 बजकर 54  मिनट तक रहेगा।

गौरतलब है कि इससे पहले शनिवार शाम को करवा चौथ की पूर्व संध्या पर इसकी तैयारियों को लेकर महिलाएं बड़ी संख्या में बाजारों में पहुंचीं। लाजपत नगर व सरोजनी नगर मार्केट में शनिवार को देर शाम तक खरीदारी के लिए महिलाएं बाजार में पहुंचती रहीं। ऐसे में कपड़े, जेवर, कास्मेटिक्स और पूजा सामग्री की दुकानों पर भीड़ लगी रही। नवविवाहित जोड़े से लेकर बुजुर्ग महिलाएं तक इस त्योहार के लिए पसंदीदा कपड़े-जेवरात के साथ ही साज-सज्जा का सामान खरीदती नजर आई।लाजपत नगर बाजार के मुख्य मार्ग के किनारे बने पार्किंग एरिया और फुटपाथ पर मेहंदी लगाने वाले मौजूद थे। कतार से बैठे मेहंदी लगाने वालों के सामने महिलाओं की भीड़ जमा थी।

jagran

मेहंदी के लिए वसूले 100 रुपये तक

मेहंदी लगाने वालों ने भी इस दौरान खूब फायदा उठाया और एक हथेली पर मेहंदी लगाने के लिए 500 से 1000 रुपये तक वसूले। मेहंदी लगवाने के लिए महिलाएं सरोजनी नगर, हौजखास, ग्रीन पार्क, मदनगीर, कालकाजी की कृष्णा मार्केट में भी पहुंचीं, वहीं करवा चौथ की पूजा में उपयोग आने वाले कलश, छलनी और पूजा की थाली 200 से 500 रुपये तक में बिक रही थीं। महिलाओं ने सोने व चांदी के जेवरात की खरीदारी की। आर्टिफिशियल ज्वेलरी की भी जमकर खरीदारी हुई। बड़ी कास्मेटिक दुकानों से लेकर रेहड़ी-पटरी वाले तक आर्टिफिशियल ज्वेलरी की बिक्री करते दिखे। इन सभी स्थानों पर खरीदारी करतीं महिलाओं की भीड़ दिखी।खरीदारी के लिए बड़ी संख्या में लोग बाहर निकले, जिसकी वजह से रिंग रोड पर लाजपत नगर से लेकर मूल चंद और साउथ एक्स मार्केट तक वाहनों की कतारें लगी रहीं। इस दौरान बाजार के अंदर भी वाहनों की लंबी लाइन देखी गई।