आपदा के दौरान सराहनीय काम के लिए एसआइ अनिल जोशी काे दिया जाएगा जीवन रक्षक पदक

 

अनिल जोशी स्थानीय युवाओं के साथ रस्सी के सहारे पहुंचे और मासूम बच्चों और उनके स्वजनों का रेस्क्यू किया।

डीजीपी अशोक कुमार ने जोशी की सराहना करते हुए कहा कि जीवन रक्षक पदक के लिए उनके नाम का प्रस्ताव केंद्र में भेजा जाएगा। साथ ही सराहनीय कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को भी पुलिस मेडल से सम्मानित किया जाएगा।

संवाददाता, रुद्रपुर : आपदा के दौरान रम्पुरा चौकी प्रभारी एसआई अनिल जोशी ने एक बच्ची की जान बचाई। मामला चर्चाओं में आया तो डीजीपी अशोक कुमार ने जोशी की सराहना करते हुए कहा कि जीवन रक्षक पदक के लिए उनके नाम का प्रस्ताव केंद्र में भेजा जाएगा। साथ ही सराहनीय कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को भी पुलिस मेडल से सम्मानित किया जाएगा।

19 और 20 अक्टूबर को हुई बरसात के बाद उत्तराखंड में आपदा आ गई। जिसमें अब तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि हजारों लोगों का पुलिस, पीएसी, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ ने रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया। इस दौरान 20 अक्टूबर की देर रात रुद्रपुर में भी कल्याणी नदी का जलस्तर बढ़ने से जगतपुरा, रवींद्रनगर, भूतबंगला और रम्पुरा में बाढ़ आ गई। पानी लोगों के घरों में घुस आया। इस पर सीओ सिटी अमित कुमार के नेतृत्व में कोतवाल विक्रम राठौर और रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी राहत बचाव में जुट गए। इस दौरान रम्पुरा चौकी प्रभारी को सूचना मिली कि कुछ बच्चे बाढ़ में बीचों बीच फंस गए हैं। जिसके बाद रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी स्थानीय युवाओं के साथ रस्सी के सहारे पहुंचे और मासूम बच्चों और उनके स्वजनों का रेस्क्यू किया।

चौकी प्रभारी अनिल जोशी का एक वीडियो और फोटो भी इंटरनेट मीडिया में वायरल हो गया। मामला पुलिस अधिकारियों के साथ ही डीजीपी तक पहुंच गया। इस पर सोमवार को डीजीपी अशोक कुमार ने रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी के आपदा के दौरान किए कार्यों की सराहना की। कहा कि अनिल जोशी के नाम का प्रस्ताव जीवन रक्षक पदक के लिए भेजा जाएगा। इसके अलावा आपदा के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को भी पुलिस मेडल से सम्मानित किया जाएगा।