हापुड़ में किसानों के बीच पहुंचे राकेश टिकैत, आंदोलन को लेकर कही ये बात

 

राकेश टिकैत ने कृषि कानूनों के विरोध में किसानों को किया जागरूक

कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बार्डर पर डेरा जमाए बैठे भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत अब गांव-गांव घूम रहे हैं। रविवार को उन्होंने हापुड़ के कुछ गांवों में पहुंचकर छोटी-छोटी सभाओं को संबांधित किया।

हापुड़,  संवाददाता। कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बार्डर पर डेरा जमाए बैठे भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत अब गांव-गांव घूम रहे हैं। रविवार को उन्होंने हापुड़ के कुछ गांवों में पहुंचकर छोटी-छोटी सभाओं को संबांधित किया। जिसमें उन्होंने किसानों को कृषि कानूनों के विरोध में जागरूक किया। शनिवार सुबह राकेश टिकैत जनपद बुलंदशहर के स्याना में भाकियू के मंडल अध्यक्ष मांगेराम त्यागी के घर पहुंचे। पिछले दिनों मांगेराम त्यागी सड़क हादसे में घायल हो गए थे। जिनके स्वास्थ्य का हाल जानना। वहां से लौटने के बाद हापुड़ में लालपुर स्थित खिचड़ी वाले महाराज बुद्धदास की कुटी पर पहुंचे।

इसके बाद गांव सुल्तानपुर में शौकीन ठेकेदार और गांव लोधीपुर में जयकरन के यहां पहुंचे। बसपा नेता जयकरन बसपा छोड़कर भाकियू में शामिल हुए। इस दौरान शौकीन ठेकेदार ने राकेश टिकैत को 21 हजार रुपये और जयकरन ने 11 हजार रुपये भेंट किए।

भाकियू नेता रामपाल सिंह ने बताया कि संगठन के राष्ट्रीय प्रवक्ता नरेश टिकैत ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती और जब तक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून नहीं बनाती है तब तक संगठन का विरोध जारी रहेगा। इस मौके पर जिलाध्यक्ष दिनेश खेड़ा, रामपाल सिंह, मनवीर सिंह, भूरे सिंह, सरदार कुंवर सिंह, वीरेंद्र सिंह, टीटू जाटव, यशवीर सिंह, गुरदेव सिंह, मुनेश पाल, आनंद पाल सिंह, जतिन चौधरी आदि मौजूद रहे।