यति नरसिंहानंद के बिगड़े बोल, वीडियो वायरल में पुलिस को बताया दो कौड़ी का

 

जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम सदर विनय कुमार सिंह ज्ञापन लेने स्वयं ही मंदिर में पहुंच गए।

यति ने एसडीएम के सामने कहा कि वह हिंदू की धर्म की रक्षा के लिए लड़ रहे हैं 36 बार जेल जा चुके हैं और फिर जेल जाने के लिए तैयार है। लेकिन पुलिस को यह बताना जरुर होगा कि गुंडा एक्ट क्यों लगाया जा रहा है।

गाजियाबाद । हाल ही में दशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर बनाए गए यति नरसिंहानंद गिरि ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए आरपार की लड़ाई का ऐलान किया है। जिसके कई वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। असल में मंगलवार को यति नरसिंहानंद कलक्ट्रेट में ज्ञापन देने आने वाले थे।

एसडीएम खुद ज्ञापन लेने के लिए मंदिर पहुंच गए

एहतियात के तौर पर जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम सदर विनय कुमार सिंह ज्ञापन लेने स्वयं ही मंदिर में पहुंच गए। मंदिर में यति नरसिंहानंद ने एसडीएम के सामने एसएसपी, एसपी देहात, एएसपी एवं सीओ सदर पर एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए उन्हें गिरफ्तार करने की चुनौती दी।

हिंदू धर्म के लिए बताया जारी रहेगी लड़ाई

यति ने एसडीएम के सामने यह भी कहा कि वह हिंदू की धर्म की रक्षा के लिए लड़ रहे हैं, 36 बार जेल जा चुके हैं और फिर जेल जाने के लिए तैयार है। लेकिन, पुलिस को यह बताना जरुर होगा कि गुंडा एक्ट क्यों लगाया जा रहा है।

योगी एवं मोदी सरकार पर बोला हमला

उन्होंने केंद्र व प्रदेश सरकार पर भी हमला बोला और कहा कि सत्ता में आने के बाद लोग बदल गए हैं केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की योगी सरकार बनवाने में मैंने भी पसीना बहाया है। उल्लेखनीय है कि गाजियाबाद पुलिस ने हाल में ही यति नरसिंहानंद पर गुंडा एक्ट लगाने का प्रस्ताव प्रशासन के पास भेजा, जिसकी अभी जांच चल रही है।

पुलिस अफसरों को बताया दो कौड़ी का

यति नरसिंहानंद गिरी ने एसडीएम के सामने गुंडा एक्ट की कार्रवाई से नाराज होकर अधिकारियों को दो कौड़ी का बोल दिया। वीडियो में वह बोल रहे हैं कि जब बड़े आतंकी संगठन और तमाम देश उनका कुछ नहीं बिगाड़ सके तो ये दो कौड़ी के अधिकारी उनका क्या बिगाड़ लेंगे। कहा कि उन्हें पता है किन-किन धार्मिक स्थलों में हथियार रखे हैं यदि अधिकारियों में दम है तो वहां छापा मारकर दिखाएं। पुलिस में दम नहीं है कि उन्हें जेल भेज सके।