डेविड कार्ड, जोशुआ डी एंग्रिस्ट और गुइडो इम्बेन्स को मिलेगा अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

 

अर्थशास्त्र में 2021 का नोबेल पुरस्कार डेविड कार्ड, जोशुआ डी. एंग्रिस्ट और गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स को दिया जाएगा।
अर्थशास्त्र में 2021 का नोबेल पुरस्कार डेविड कार्ड को आधा और संयुक्त रूप से जोशुआ डी. एंग्रिस्ट और गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स को दिया जाएगा। इससे पहले चिकित्सा भौतिकी रसायन विज्ञान साहित्य और शांति में नोबेल जीतने वालों के नामों की घोषणा की गई है।

 स्टाकहोम, एजेंसी। अर्थशास्त्र में 2021 का नोबेल पुरस्कार डेविड कार्ड को आधा और संयुक्त रूप से जोशुआ डी. एंग्रिस्ट और गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स को दिया जाएगा। नार्वे की नोबेल समिति ने सोमवार को इसकी घोषणा की। तीन अमेरिकी अर्थशास्त्रियों को रोजगार जैसे प्रमुख सामाजिक मुद्दों पर शोध के लिए 2021 में अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार चुना गया है। लेबर मार्केट और नैचुअलर एक्सपेरिमेंट्स के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए इन तीनों को इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुना गया।

कनाडा में जन्मे डेविड कार्ड को यह पुरस्कार लेबर इकोनामिक्स में उनके योगदान के लिए दिया जाएगा। वहीं इजराइली-अमेरिकी जोशुआ डी एंग्रिस्ट और डच अमेरिकी गुइडो डब्ल्यू इम्ब्रेन्स ने भी लेबर मार्केट और नेचुअलर एक्सपेरिमेंट्स में विश्लेषण किया। अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार को आधिकारिक तौर पर स्वेरिजेज रिक्सबैंक पुरस्कार कहा जाता है। इसकी शुरुआत 1968 में हुई थी। अर्थशास्त्र को काफी देर बार नोबेल पुरस्कारों में शामिल किया गया।

 इससे पहले चिकित्सा, भौतिकी, रसायन विज्ञान, साहित्य और शांति में नोबेल जीतने वालों के नामों की घोषणा की गई है। अमेरिकी विज्ञानियों डेविड जूलियस और एर्डम पटापौटियन को इस बार चिकित्सा क्षेत्र के नोबेल के लिए चुना गया है। भौतिकी का नोबेल जापान के स्युकुरो मनाबे, जर्मनी के क्लास हेसलमैन और इटली के जियोर्जियो पैरिसी को मिलेगा।

रसायन का नोबेल पुरस्कार जर्मनी के बेंजामिन लिस्ट और स्काटलैंड के डेविड डब्ल्यूसी मैकमिलन को मिलेगा। ब्रिटेन में रह रहे तंजानिया के लेखक अब्दुलरज्जाक गुरनाह को इस साल का साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया जाएगा। फिलीपींस की पत्रकार मारिया रेसा और रूसी पत्रकार दमित्री मुरातोव को इस साल शांति के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।