कार के बोनट को बना रखा था बार, पुलिसकर्मी ने मना किया तो सिर पर दे मारी बोतल, पढ़िए पूरा वाक्या

 


युवकों ने पुलिसकर्मी के सिर पर मारी बोतल, केस दर्ज।
प्रशांत ने युवकों को सार्वजनिक जगह पर शराब पीने से मना किया कहा कि आप सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी। इतना सुनते ही युवक भड़क गए। एक युवक ने प्रशांत का कालर पकड़ा और एक ने इनके सिर पर बोतल मारकर घायल कर दिया। इसके बाद वे फरार हो गए।

नई दिल्ली,  संवाददाता। मुंडका थाना क्षेत्र में सड़क किनारे कार के बोनट पर शराब पी रहे युवकों को मना करना पुलिसकर्मी को भारी पड़ गया। शराब पी रहे युवकों ने गुस्से में आकर पुलिसकर्मी के सिर पर बोतल मारकर घायल कर दिया। मुंडका थाना में तैनात कांस्टेबल प्रशांत ने शिकायत में कहा है कि वे गश्त पर थे। घेवरा मोड़ मेट्रो स्टेशन के नजदीक उन्होंने देखा कि तीन युवक कार की बोनट पर शराब की बोतल रखकर शराब पी रहे थे।

प्रशांत ने युवकों को सार्वजनिक जगह पर शराब पीने से मना किया और कहा कि आप सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी। इतना सुनते ही युवक भड़क गए। एक युवक ने प्रशांत का कालर पकड़ा और एक ने इनके सिर पर बोतल मारकर घायल कर दिया। इसके बाद वे फरार हो गए।

उधर भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल कराने के नाम पर खिलाड़ियों के साथ धोखाधड़ी के मामले में उत्तर प्रदेश के एक रणजी खिलाड़ी की जल्द गिरफ्तारी हो सकती है। छानबीन में सामने आया है कि उसके खाते में लगभग 15 लाख रुपये जमा कराए गए थे। पुलिस ने पूछताछ में शामिल होने के लिए उसे नोटिस दिया है। उसे शनिवार को ही जांच में शामिल होना था, लेकिन गिरफ्तारी के डर से नहीं आया।

मामले में अब तक चार आरोपित न्यू पालम विहार निवासी आशुतोष बोरा, चित्र बोरा, राजस्थान के गंगानगर निवासी नितिन कुमार एवं उत्तराखंड के देहरादून में एक क्रिकेट अकादमी के प्रशिक्षक कुलबीर रावत की गिरफ्तारी हो चुकी है। आठ की गिरफ्तारी शेष है। इन आठ में ही उत्तर प्रदेश का एक रणजी खिलाड़ी शामिल है। इसके खिलाफ पहले भी फर्जीवाड़े का आरोप लग चुका है।

इसी साल 24 अगस्त को न्यू पालम विहार में रह रहे मूल रूप से उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के गांव पिप्रया निवासी अंशुल राज द्वारा धोखाधड़ी की शिकायत सेक्टर-50 थाने में दर्ज कराने के बाद से आर्थिक अपराध शाखा-दो कई एंगिल को ध्यान में रखकर जांच कर रही है। जांच का दायरा बढ़ाने से ही सामने आया कि अंशुल के साथ ही कई अन्य खिलाड़ियों के साथ धोखाधड़ी की गई थी।

14 खिलाड़ियों से की गई है ठगी

धोखाधड़ी करने वालों का नेटवर्क पूरे देश में फैला है। अब तक 14 खिलाड़ियों से कुल 1.30 करोड़ रुपये ऐंठने की बात सामने आ चुकी है।