ई-वाहन चार्जिंग प्वाइंट को पीडब्ल्यूडी ने हटावाया, एसडीएमसी ने कहा जल्द निकालेंगे समाधान

 

ई-वाहन चार्जिग प्वाइंट को पीडब्ल्यूडी ने हटवा दिया है।

एसडीएमसी के आरपी सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ये सड़कें नगर निगम की हैं। विभाग ने पीडब्ल्यूडी को इनका रखरखाव करने के लिए सौंपा है। इसलिए इन पर निगम का मालिकाना हक है।

नई दिल्ली, संवाददाता। भीकाजी कामा प्लेस पर रिंग रोड पर दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की ओर से बनवाए जा रहे ई-वाहन चार्जिग प्वाइंट को पीडब्ल्यूडी ने हटवा दिया है। पीडब्ल्यूडी ने यह कहते हुए कि ठेकेदार ने ई-वाइन चार्जिग प्वाइंट लगाने से पहले विभाग से अनुमति नहीं ली, काम बंद करवा दिया और मशीनों को हटवा दिया। यहां पर दो चार्जिग लगाए जा चुके थे। फिनिशिंग का काम चल रहा था, लेकिन पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने काम रुकवा दिया और मशीनों को यहां से हटवा दिया।

वहीं, पीडब्ल्यूडी ने लाजपत नगर में भी बनाए जा रहे चार्जिग प्वाइंट का काम बंद करवा दिया। दोनों जगहों पर दो-दो चार्जिग प्वाइंट लगाए जा रहे थे। इन पर चार-चार ई-बाइक एक साथ चार्ज की जा सकती है। इस बारे में पीडब्ल्यूडी का पक्ष जानने के लिए मुख्य अभियंता को काल किया गया, लेकिन उन्होंने काल रिसीव नहीं की।

एसडीएमसी के आरपी सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ये सड़कें नगर निगम की हैं। विभाग ने पीडब्ल्यूडी को इनका रखरखाव करने के लिए सौंपा है। इसलिए इन पर निगम का मालिकाना हक है। हालांकि, उन्होंने कहा कि हो सकता है कि जूनियर लेवल के अफसरों में इस बात की जानकारी न होने के कारण ऐसी समस्या उत्पन्न हुई। उन्होंने बताया कि मामले के समाधान के लिए पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की जा रही है। जल्द ही समस्या का समाधान निकाल लिया जाएगा।

दोपहिया वाहनों के लिए बनने हैं 35 चार्जिग प्वाइंट

निगम के अधिकारी ने बताया कि निगम की ओर से रिंग रोड व आउटर रिंग रोड पर कुल 35 दोपहिया चार्जिग प्वाइंट बनाने की योजना है। ये दोनों प्वाइंट उसी योजना के तहत बनाए जा रहे थे। उन्होंने बताया कि एक सर्वे में यह सामने आया है कि वाहनों के कारण जितना प्रदूषण होता है उसमें 67 प्रतिशत प्रदूषण दोपहिया वाहनों के कारण होता है। इसलिए ई-वाहनों को बढ़ावा देने के लिए ये चार्जिग प्वाइंट बनाए जा रहे हैं।