त्‍योहार से पहले रसोई पर फिर महंगाई, एलपीजी सिलिंडर के आगरा में फिर बढ़े दाम

 

आगरा में रसोई गैस की डिलीवरी करने जाता हॉकर।

912.50 रुपये का हुआ 14.2 किलोग्राम सिलिंडर 15 रुपये का हुआ इजाफा। व्यावसायिक सिलिंडर पर 2.50 रुपये घटाए व्यापारी असंतुष्ट। बुधवार से लागू हो गया है नया रेट। नागरिकों में बढ़ती महंगाई को लेकर तीखी प्रतिक्रिया। जेब से बाहर हो रहे अब खर्चे।

आगरा, संवाददाता। एलपीजी 14.2 किलोग्राम सिलिंडर के दामों में बुधवार से 15 रुपये इजाफा हो गया है, जिससे दाम 912.50 रुपये प्रति सिलिंडर हो गए हैं। त्योहारों की शुरुआत से पहले फिर एक बार दामों में हुए इजाफे से जहां रसोई का बजट बिगड़ा है तो महिलाओं में आक्रोश है। उनका कहना है कि लगातार हो रही मूूल्य वृद्धि पूरे घर का बजट बिगाड़ रही है। इस पर रोकथाम होनी चाहिए। गैस का मूल्य स्थिर रहना चाहिए। वहीं व्यावसायिक सिलिंडर के दाम 2.50 रुपये घटाए गए हैं। इससे व्यापारी संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि गत महीनों में 70 और 36 रुपये बढ़ाए गए, जबकि अब ढाई रुपये घटाकर उपहास किया जा रहा है। 19 किलोग्राम व्यावसायिक सिलिंडर के दाम अब 1771.50 रुपये हो गए हैं।

हर महीने की पहली तरीख को एलपीजी के दाम पुन: निर्धारित होते हैं। गत महीने पहली तारीख को व्यावसायिक सिलिंडर के दाम 72.50 रुपये बढ़े थे, जबकि एक अक्टूबर को 36 रुपये इजाफा हुआ था। एक अक्टूबर को घरेलू सिलिंडर के दाम स्थिर बने रहे थे। वहीं बीच महीने में दामों में 15 रुपये इजाफा किया गया है, जबकि गत महीने घरेलू सिलिंडर के दाम 25 रुपये बढ़ा दिए गए थे। दामों में हो रही लगातार वृद्धि से महिलाएं परेशान हो रही है। वहीं व्यावसायिक सिलिंडर के दाम ढाई रुपये घटने के बाद भी व्यापारी अधिक राहत की मांग कर रहे हैं। आल इंडिया इंडेन डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के आगरा संभाग अध्यक्ष विपुल पुरोहित एवं आगरा एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संतोष सिकरवार ने बताया कि बढ़े हुए दाम बुधवार से प्रभावी हो गए हैं।एलपीजी के दामाें में लगातार वृद्धि की जा रही है, जिससे आम आदमी बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। गैस के दाम स्थिर रहने चाहिए।

विनीता सिंह, लोहामंडी

रसोई गैस के दाम में हर महीने इजाफा नहीं होना चाहिए। इससे पूरे घर का बजट प्रभावित हो जाता है।

राधा गुप्ता, लायर्स कालोनी

दाम बढ़ाए एक मुश्त जाते हैं, लेकिन दो और चार रुपये घटाए जाते हैं। व्यापारी संक्रमण काल में पहले से ही प्रभावित हैं, उन्हें राहत मिलनी चाहिए।

विजय सिंह, हलवाई

रेस्टाेरेंट में अभी 50 फीसद भी ग्राहकों की आवक नहीं हो रही है। व्यावसायिक सिलिंडर के दाम घटाकर व्यापारियों को राहत दी जा सकती है।

किशन सिंह, रेस्टोरेंट संचालक