फुटपाथ पर अवैध रूप से बना मंदिर आज टूटेगा, दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में दी जानकारी

 


डिफेंस कालोनी के फूटपाथ पर अवैध रूप से बने मंदिर की प्रतीकात्मक तस्वीर।
डिफेंस कालोनी के पास फुटपाथ पर अवैध रूप से बने मंदिर को सोमवार को ध्वस्त किया जाएगा।दरअसल एक भवन मालिक ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी उसमें कहा था कि वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान किसी ने फुटपाथ पर अवैध रूप से एक मंदिर बना लिया है।

नई दिल्ली, । दक्षिणी दिल्ली की डिफेंस कालोनी के पास फुटपाथ पर अवैध रूप से बने मंदिर को सोमवार को ध्वस्त किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने हाई कोर्ट को इस बारे में सूचित किया है। इस मामले में अगली सुनवाई आठ अक्टूबर को होगी। दरअसल, एक भवन मालिक ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी, उसमें कहा था कि वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान किसी ने भीष्म पितामह मार्ग पर फुटपाथ पर अवैध रूप से एक मंदिर का निर्माण कर लिया है, जिससे उनके भवन का रास्ता बाधित हो रहा है।

उन्हें आवागमन में परेशानी हो रही है। उन्होंने अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की मांग की थी। इस पर सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की पीठ ने याचिका पर नोटिस जारी कर दिल्ली सरकार, डीसीपी (दक्षिणी जिला) से जवाब मांगा था। अधिकारियों को एक स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था।

इस पर दिल्ली सरकार और डीसीपी (दक्षिणी जिला) का पक्ष रख रहे अधिवक्ता अनुपम श्रीवास्तव ने पीठ से कहा कि अधिकारी अपने कर्तव्य के प्रति सचेत हैं और पहले ही उस स्थल पर अवैध निर्माण को सोमवार (चार अक्टूबर) को ध्वस्त करने की योजना बना चुके हैं।

पुलिस इस कार्य में लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) को आवश्यक सहायता प्रदान करेगी। पीठ ने इस मामले में उस व्यक्ति को भी नोटिस जारी किया, जिसने यह अवैध निर्माण किया है।