डीएमआरसी के नए कदम से दिल्ली मेट्रो के यात्रियों का सफर होगा और आसान

 

Delhi Metro Commuters Alert: डीएमआरसी के नए कदम से दिल्ली मेट्रो के यात्रियों का सफर होगा और आसान

डीएमआरसी का कहना है कि इस माह के अंत तक इलेक्ट्रिक मेट्रो फीडर बसों के नेटवर्क में 25 अतिरिक्त एसी बसें शामिल हो जाएंगी। इसके बाद दिल्ली में 50 एसी इलेक्ट्रिक मेट्रो फीडर बसें रफ्तार भरने लगेंगी।

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) द्वारा ट्रायल के रूप में 25 एसी इलेक्ट्रिक मेट्रो फीडर बसों का परिचालन शुरू हुए करीब दो महीने पूरा होने को हैं। फिर भी मेट्रो फीडर बसों के नेटवर्क में अब तक अतिरिक्त नई फीडर बसें शामिल नहीं की जा सकी है। इसका कारण यह है कि एसी मेट्रो फीडर बसों के ट्रायल के शुरुआती नतीजे बहुत उत्साह जनक नहीं थे, क्योंकि इन फीडर बसों में सफर करने वाले यात्रियों की संख्या कम थी।

वहीं, बताया जा रहा है कि अब यात्रियों की संख्या थोड़ी बढ़ी है। ऐसे में अब डीएमआरसी का कहना है कि इस माह के अंत तक इलेक्ट्रिक मेट्रो फीडर बसों के नेटवर्क में 25 अतिरिक्त एसी बसें शामिल हो जाएंगी। इसके बाद दिल्ली में 50 एसी इलेक्ट्रिक मेट्रो फीडर बसें रफ्तार भरने लगेंगी।

बता दें कि दिल्ली में लास्ट माइल कनेक्टिविटी को बेहतर करने के लिए इस माह के अंत तक डीएमआरसी की चरणबद्ध तरीके से 10 रूटों पर 100 एसी मेट्रो फीडर बसें उतारने की योजना थी। ताकि मेट्रो स्टेशन पर उतरने के बाद यात्री आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकें। इसके अलावा विभिन्न इलाके से यात्री आसानी से मेट्रो स्टेशन पहुंच सकें। इसके तहत 12 अगस्त को पूर्वी दिल्ली के दो रूटों पर 25 एसी मेट्रो फीडर बसों का परिचालन शुरू किया गया।

इन बसों का परिचालन शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन से गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन और शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन से मदर डेयरी के बीच हो रहा है। इन बसों में सिर्फ मेट्रो के स्मार्ट कार्ड से ही किराया भुगतान की सुविधा है। नकद राशि या टोकन से किराया भुगतान की सुविधा नहीं है, इसलिए जिन यात्रियों के पास स्मार्ट कार्ड नहीं होता वे इसमें सफर नहीं कर पाते। इस वजह से शुरुआत में बसें ज्यादातर खाली ही चल रही थीं।

इस बीच जानकारी सामने आई है कि पिछले कुछ समय से यात्रियों की संख्या थोड़ी बढ़ी है। खास तौर पर सुबह व शाम व्यस्त समय में ये एसी मेट्रो फीडर बसें यात्रियों से भरी होती है और बैठने की पूरी क्षमता के साथ परिचालन होता है। डीएमआरसी का कहना है कि 25 अतिरिक्त बसों का परिचालन इस माह शुरू हो जाएगा। इसके बाद 50 अतिरिक्त बसें भी जल्द सड़क पर उतारी जाएंगी।