सिद्धू के ट्वीट पर सीएम चन्नी का सीधा जवाब, कहा- अपना काम करें और पार्टी फोरम पर रखें बात

 


सीएम चरणजीत सिंह चन्नी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए।
नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर चन्नी सरकार पर एजी व डीजी की नियुक्ति को लेकर निशाना साधा है। मामले में अब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी भी आक्रामक हो गए हैं। उनका कहना है कि सिद्धू को कुछ कहना है तो पार्टी फोरम पर बात करें।

संवाददाता, मोरिंडा (रूपनगर)। नवजोत सिंह सिद्धू इससे पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर आक्रामक रहे हैं। कैप्टन के लिए जब सिद्धू ने मुश्किलें खड़ी की तो उन्हें सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा। अब चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम की जिम्मेदारी दी गई तो सिद्धू उनके कामकाज में भी हस्तक्षेप करने लगे हैं। सरकार में सुनवाई न होने का आरोप लगाते हुए सिद्धू पंजाब कांग्रेस प्रधान पद छोड़ चुके हैं। अब उन्होंने डीजी व एजी की नियुक्ति को लेकर ट्वीट कर सीधे-सीधे सरकार पर निशाना साधा है। इसके जवाब में चन्नी ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू पार्टी का काम करें। अगर उन्होंने अपनी बात रखनी है तो पार्टी फोरम का इस्तेमाल करें। 

मोरिंडा में पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने स्पष्ट रूप से कहा कि सिद्धू पार्टी का काम करें। हम दोनों तालमेल से काम करें, हम काम करना चाहते हैं और कर रहे हैं। यदि कोई किसी तरह की आपसी कोई बात पसंद नहीं आ रही तो पार्टी फोरम में बैठकर कोआर्डिनेशन कमेटी में आकर बात की जा सकती है। चन्नी ने कहा कि खुद का उदाहरण देते हुए कहा कि आम लोगों के बीच से चुना हुआ नुमाइंदा आगे है। आम साधारण बंदा है। सरकार का काम है वो ईमानदारी से का करे और सबको साथ लेकर चले।

चन्नी ने सिद्धू के ट्वीट पर कहा कि अभी डीजीपी की नियुक्ति होनी है। इसके लिए सीधा सा कानून है और मैंने सिद्धू साहिब से इस बारे में बात की है। उन्हें पता है। चन्नी ने कहा कि पंजाब का डीजीपी लगाने के लिए उन अफसरों के नाम केंद्र सरकार को भेजे गए हैं, जिनकी सेवा तीस साल पूरी हो चुकी है। तीन नाम का पैनल केंद्र सरकार ने हमें भेजना है। उन्हीं नामों को लेकर सिद्धू साहिब से भी और विधायकों-मंत्रियों से बातचीत करके डीजीपी लगाया जाएगा। डीजीपी लगेगा तभी, जब केंद्र का पैनल आएगा। अभी अस्थायी प्रबंध किए गए हैं।

58 वाले अब नौजवानों के लिए सीट खाली करेंः चन्नी

चन्नी ने कहा कि जो 58 साल का हो गया है वो सरकारी कर्मचारी अधिकारी अपनी सीट खाली करे, ताकि नए नौजवानों के लिए सीट खाली हो सके। इसके लिए स्पष्ट कानून है जिनके 58 साल पूरे हो गए हैं वो छुट्टी करके जाएं। नए लड़कों को भर्ती किया जाए। इसके लिए तय कर लिया गया है और किसी को भी इसमें राहत नहीं दी जाएगी।

2.85 लाख परिवारों के कर्जे हुए हैं माफ

चन्नी ने कहा कि पंजाब में खेत मजदूर के लिए पांच सौ बीस करोड़ रुपये के कर्जे माफ किए जा रहे हैं। पच्चीस हजार रुपये तक के कर्जे जो ब्याज लगकर लाखों में पहुंच गए हैं वो मूल और ब्याज दोनों माफ किए जा रहे हैं। पंजाब के 2.85 लाख परिवारों का कर्जा माफ किया जा रहा है। इसमें हलका चमकौर साहिब के 7450 परिवार शामिल हैं।

अब लाल लकीर में रह रहे लोग जगह के मालिक

पंजाब के लाल लकीर के अंदर रहने वाले लोगों के मकान की जगह का मकान में रह रहे परिवार को मालिक बनाया जा रहा है। इससे उन्हें कर्जा लेने, बेचने खरीदने में आसानी हो। गांवों के लोगों के बीच झगड़े न हों और लोग अमन प्यार के साथ एकजुटता के साथ रहें। चन्नी ने कहा कि शहरों में भी ऐसे लोग जो स्लम एरिया में रहते हैं उन्हें भी बसेरा स्कीम के तहत जगह की सनद करवाकर दे रहे हैं।

सिस्टम पारदर्शी हो और सही चले, ये मेरा उद्देश्य

चन्नी ने कहा कि पंजाब की जनता खुश है और मैं लोगों को अच्छा सिस्टम देना चाहता हूं। मेरी सोच है कि व्यवस्था पारदर्शी हो, सिस्टम सही तरीके से काम करे। पुलिस वाला बेकार में लोगों को रोककर तंग न करे। हर व्यक्ति को आ रही दिक्कतों को मैं दूर करूंगा। मुझे राज करने की लालसा नहीं है।

पवन दीवान का भी सिद्धू पर हमला, सोनिया से हस्तक्षेप की मांग

जासं, रूपनगर। लोकसभा सदस्य मनीष तिवारी के नजदीकी और स्माल स्केल इंडस्ट्री बोर्ड पंजाब के चेयरमैन पवन दीवान ने भी सिद्धू के सुबह के ट्वीट को लेकर उन पर निशाना साधा है। दीवान ने रिप्लाई करते हुए स्पष्ट शब्दों में सिद्धू को डिक्टेटर बताया है। दीवान ने ने लिखा कि हमें तो अपनों ने लूटा गैरों में कहां दम था। नॉट ए लीडर, ही इज ए डिक्टेटर? इससे पहले जवाब में पवन दीवान ने सीएम चन्नी का पक्ष लेते हुए लिखा है कि अभी कितने दिन हुए हैं चन्नी जी को सीएम बने। सीएम पर इतना दबाव डालना ठीक नहीं। सोनिया गांधी जी तुरंत दखल दें।