लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में सीपीआइ-एमएल ने भभुआ में पीएम नरेंद्र मोदी का किया पुतला दहन

 

भभुआ में सीपीआइ-एमएल के नेता व कार्यकर्ता पुतला दहन कर नारे लगाते हुए। जागरण फोटो।
भाकपा मालेअखिल भारतीय किसान महासभा व इंसाफ मंच कैमूर के तत्वावधान में सोमवार को भभुआ नगर में मार्च निकाल कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया गया। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन किया।

भभुआ,  संवाददाता। भाकपा माले,अखिल भारतीय किसान महासभा व इंसाफ मंच कैमूर के तत्वावधान में सोमवार को भभुआ नगर में मार्च निकाल कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया गया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि किसान विरोधी तीनों कृषि कानून को रद करने के लिए संघर्ष कर रहे किसानों के ऊपर उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में भाजपा के केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा  के द्वारा हमला कर दिया गया। अपने साथियों के साथ मिलकर आधा दर्जन किसानों की हत्या व कितने को घायल कर दिया गया। जिसके खिलाफ भाकपा माले जिला कार्यालय से जुलूस निकाल कर मार्च करते हुए भभुआ नगर के मुख्य मार्ग पर भ्रमण किया गया। इसके बाद भभुआ नगर के एकता चौक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया गया।

मार्च का नेतृत्व भाकपा माले के जिला कार्यालय सचिव मोरध्वज सिंह ने किया। कार्यक्रम में महेंद्र  सिंह, इंसाफ मंच के जिलाध्यक्ष मो. तारूफ हुसैन, इंसाफ मंच जिला सचिव अफसार खां, मेराज आलम, बजरंगी बिंद, पप्पू पासवान, शकुंतला देवी, बसंती देव, रानी देवी, चिरइ देवी, कलावती कुंवर  आदि ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं ने हत्यारे मंत्री पुत्र को गिरफ्तार करने, केंद्रीय राज्य गृह मंत्री अजय मिश्रा को तुरंत बर्खास्त करने, किसानों के ऊपर हमले की वारदात की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी से कराने, संवैधानिक पद पर रहते हुए हिंसा के लिए उकसाने के दोषी हरियाणा के मुख्य मंत्री मनोहर लाल खट्टर को बर्खास्त करने, शहीद किसान के परिजनों को एक करोड़ रुपये और सरकारी नौकरी देने, घायल किसानों को 25 लाख रुपये सरकार द्वारा मुआवजा देने की मांग की है।