सीएम चरणजीत चन्नी बोले- मैंने खुद पटाखे बेचे, पंजाब में नहीं लगेगा इनकी बिक्री पर प्रतिबंध

 

लुधियाना में पत्रकारों से बातचीत करते सीएम चरणजीत सिंह चन्नी। जागरण
पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने राज्य में पटाखों की बिक्री को लेकर कंफ्यूजन दूर कर दिया है। सीएम ने स्पष्ट किया है कि राज्य में इनकी बिक्री पर प्रतिबंध नहीं रहेगा। उन्होंने खुद पटाखे बेचे इसलिए व्यापारियों का दर्द समझते हैं।

संवाददाता, लुधियाना। पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने स्पष्ट किया है कि राज्य में पटाखे बेचने पर प्रतिबंध नहीं रहेगा। सीएम ने कहा कि उन्होंने खुद पटाखे बेचे हैं, इसलिए वह व्यापारियों के दर्द को अच्छे तरीके से समझते हैं। राज्य में व्यापारी पटाखे बेच सकता हैं। बता दें, राज्य में व्यापारी पटाखों की बिक्री को लेकर आशंकित थे और सरकार से मांग कर रहे थे वह पटाखों की बिक्री पर रोक न लगाए। दरअसल, व्यापारी पहले ही पटाखों का आर्डर दे चुके थे। अब अचानक इस पर पर प्रतिबंध लगने से राज्यभर में उन्हें करोड़ों का नुकसान हो जाता।बता दें, पंजाब में पटाखों की बिक्री व इन्हें चलाने को लेकर लोग दुविधा में थे। गत दिवस सूचना था कि राज्य में पटाखों पर प्रतिबंध रहेगा। हालांकि प्रतिबंध की बात सिर्फ मंडी गोबिंदगढ़ और जालंधर में कही जा रही थी। इन दोनों जिलों में हवा की गुणवत्ता सबसे खराब है। बाकी प्रदेश में ग्रीन पटाखे चलाए जा सकेंगे। सीएम ने अभी पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध न होने की बात कही है, लेकिन आदेश जारी होने के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि पटाखों की बिक्री प्रदेशभर में होगी या कुछ जिलों में इन पर प्रतिबंध रहेगा।

पंजाब में दीपावली के अलावा गुरु पर्व पर भी पटाखों को चलाने की परंपरा है। इससे प्रदूषण का स्तर पर बढ़ जाता है। प्रदेश में पराली जलने के कारण दीपावली से पहले ही प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है, लेकिन इस पर बारिश होने के कारण  प्रदूषण से काफी राहत मिली है। पिछले वर्षों के मुकाबले हवा की गुणवत्ता में सुधार है। हालांकि दीपावली के बाद पटाखों के जलने से हवा की गुणवत्ता खराब होगी।