मौसम विभाग ने बताया दिल्ली में टूट सकता है कई साल पुराना बारिश का रिकार्ड

 

Delhi Weather & Rain Update: दिल्ली में टूट सकता है कई वर्ष पुराना सालाना बारिश का रिकार्ड

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार इससे पहले राजधानी दिल्ली में 1933 में 1534.3 मिमी वर्षा हुई थी जो 1901-2021 की अवधि में दर्ज की गई अभी तक की सबसे अधिक सालाना बारिश है।

नई दिल्ली। इस साल अब तक 1,502.8 मिमी बारिश के बाद राजधानी दिल्ली का सालाना वर्षा का भी रिकार्ड तोड़ने की ओर बढ़ रही है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, इससे पहले राजधानी दिल्ली में 1933 में 1,534.3 मिमी वर्षा हुई थी जो 1901-2021 की अवधि में दर्ज की गई अभी तक की सबसे अधिक सालाना बारिश है। 1933, 1964 और 1975 के बाद 121 वर्षों में यह चौथी बार है जब शहर में 1,200 मिमी से अधिक वर्षा हुई है। गौैरतलब है कि सफदरजंग वेधशाला, जिसे शहर का आधिकारिक मार्कर माना जाता है, पर सोमवार शाम तक 1,502.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। 1901 के बाद से राजधानी दिल्ली में यह दूसरी सबसे अधिक बारिश है। पिछले साल दिल्ली में 773.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।

उधर, स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा कि इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि दिल्ली इस साल सालाना बारिश का भी एक नया रिकार्ड देखेगी। उन्होंने यह भी बताया कि आमतौर पर सर्दियों के मौसम में हर माह तीन से चार पश्चिमी विक्षोभ दर्ज किए जाते हैं, जिससे पहाड़ों पर बर्फबारी होती है और उत्तरी मैदानी इलाकों में बारिश होती है। दिल्ली में इस साल सबसे विलंबित और अनिश्चित मानसून देखा गया, जिसमें 1,169.7 मिमी बारिश हुई। यह 1901 के बाद से तीसरी सबसे अधिक बारिश है।

आमतौर पर दिल्ली में मानसून के दौरान 653.6 मिमी बारिश दर्ज की जाती है। पिछले साल राजधानी में 576.5 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। 1975 में 1,155.6 मिमी और 1964 में 1,190.9 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। 1933 में अब तक का रिकार्ड 1,420.3 मिमी बारिश है।

बताया जा रहा हैकि पिछले दो दशकों में यह तीसरी बार था जब दिल्ली में मानसून की बारिश ने 1,000 मिमी के निशान को पार किया। 2010 में मानसून के मौसम में शहर में 1,031.5 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। 2003 में, राजधानी ने 1,050 मिमी बारिश दर्ज की थी।