भवानीपुर में जीत के साथ ममता ने चार और सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की

 

ममता ने चार और सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की। फोटो एएनआइ
ममता ने शांतिपुर से ब्रजकिशोर गोस्वामी दिनहाटा से उदयन गुहा व खड़दह से शोभनदेव चट्टोपाध्याय के नाम की घोषणा की। गोसाबा सीट पर बप्पादित्य नस्कर एवं सुब्रत मंडल में से किसी एक के नाम की घोषणा अभी कुछ ही देर में कर दी जाएगी।

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल की भवानीपुर सीट पर उपचुनाव में रिकार्ड 58 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज करने के साथ ही मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राज्य की चार और विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए पार्टी के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा भी रविवार को कर दी। ममता ने शांतिपुर से ब्रजकिशोर गोस्वामी, दिनहाटा से उदयन गुहा व खड़दह से शोभनदेव चट्टोपाध्याय के नाम की घोषणा की। इसके साथ ही ममता ने कहा कि गोसाबा सीट पर बप्पादित्य नस्कर एवं सुब्रत मंडल में से किसी एक के नाम की घोषणा अभी कुछ ही देर में कर दी जाएगी। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने 28 सितंबर को इन चारों विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की थी।

30 अक्टूबर को होगा मतदान, दो अक्टूबर को मतगणना

चारों विधानसभा सीटों दिनहाटा, शांतिपुर, गोसाबा और खड़दह में होने वाले उपचुनाव के लिए एक अक्टूबर, शुक्रवार को अधिसूचना जारी होने के साथ नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई थी। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख आठ अक्टूबर है। 11 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 13 अक्टूबर तक नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि है। 30 अक्टूबर को मतदान होगा, जबकि दो नवंबर को मतगणना होगी। राज्य में मुख्य विपक्षी भाजपा ने इन चारों सीटों के लिए अभी तक अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा नहीं की है।


Ads by Jagran.TV

उम्मीदवारों की मृत्यु और इस्तीफे के कारण खाली हुई हैं सीटें

उत्तर 24 परगना जिले की खड़दह सीट पर इस साल मार्च-अप्रैल में हुए विधानसभा चुनाव में तृणमूल उम्मीदवार काजल सिंह की परिणाम घोषित होने से पहले ही कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी। उसी तरह से दक्षिण 24 परगना जिले के गोसाबा से तृणमूल विधायक जयंत नस्कर की विधायक पद की शपथ लेने के बाद निधन हो गया था। इसके अलावा, भाजपा के दो सांसदों निशिथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार ने दिनहाटा और शांतिपुर से विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। इसीलिए इन चारों सीटों पर उपचुनाव की नौबत आई।

भवानीपुर की जनता ने साजिशों को किया नाकामः ममता

बंगाल की हाई प्रोफाइल भवानीपुर सीट पर हुए उपचुनाव में रिकार्ड 58 हजार से ज्यादा वोटों से जीत के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भवानीपुर के लोगों का धन्यवाद किया है। ममता ने रविवार को भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि भवानीपुर की जनता ने तमाम साजिशों को नाकाम कर दिया। ममता ने इसके साथ ही कार्यकर्ताओं से अपील की कि राज्य में बारिश व बाढ़ के चलते विजय जुलूस नहीं निकालें। ममता ने आगे कहा कि भारी बारिश के चलते इस बार भवानीपुर में कम वोटिंग हुई थी। इसके बाद भी 58 हजार से ज्यादा वोटों से जीती हूं। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि नंदीग्राम में नहीं जीत पाने की बहुत सारी वजहें हैं। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है, इसलिए मैं इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहूंगी।

ममता ने कहा कि आप सभी जानते हैं कि किस तरह केंद्र सरकार व भाजपा ने हमें हराने के लिए साजिश रची थी और धनबल से लेकर बाहुबल सभी का इस्तेमाल किया था। इसके बावजूद विधानसभा चुनाव में बंगाल की जनता ने भाजपा को करारा जवाब दिया था और हमें फिर से सेवा का मौका दिया। इसके लिए मैं बंगाल की जनता का बहुत आभारी हूं। ममता ने कहा कि भवानीपुर के किसी वार्ड से नहीं हारी हूं। भवानीपुर में 46 फीसद गैर बंगाली वोटर हैं। मैं सभी का आभारी हूं। उन्होंने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि भवानीपुर जैसी छोटी जगह पर भी चुनाव के लिए 3500 केंद्रीय सुरक्षाकर्मी भेजे गए। इधर, भवानीपुर के बाद तृणमूल कांग्रेस ने मुर्शिदाबाद की शमशेरगंज सीट पर भी कब्जा किया है।तृणमूल उम्मीदवार आमिरुल इस्लाम 26,111 वोट से जीते।

प्रियंका टिबड़ेवाल ने ममता को दी जीत की बधाई

भवानीपुर उपचुनाव में हार के बाद भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबड़ेवाल ने ममता बनर्जी को जीत की दी बधाई। उन्होंने कहा कि शालीनता से हार को स्वीकार करती हूं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी भवानीपुर में कैसे जीतीं यह सबने देखा।

भवानीपुर में ममता 58832 वोट से विजयी, जंगीपुर और शमशेरगंज से भी तृणमूल की जीत


भवानीपुर विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रिकार्ड 58,832 वोट से विजयी हुई हैं। भवानीपुर विधानसभा सीट पर ममता की जीत की यह हैट्रिक है। इससे पहले उन्होंने यहां से 2011 व 2016 का विधानसभा चुनाव जीता था। 2011 में वे इस सीट पर 54,213 वोट के अंतर से जीती थीं। 2016 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी 25,301 वोटों के अंतर से जीती थीं। तृणमूल कांग्रेस ने मुर्शिदाबाद की शमशेरगंज सीट पर भी किया कब्जा। तृणमूल उम्मीदवार आमिरुल इस्लाम 26,111 वोट से जीते। जंगीपुर सीट पर 71,665 वोट से जीते तृणमूल प्रत्याशी जाकिर हुसैन।