घर चाहने वालों के लिए वरदान बनी है पीएम आवास योजना, यहां से लें इसकी पूरी जानकारी

 

पीएम आवास योजना लोगों के लिए वरदान साबित हुई है।
पीएम आवासीय योजना के तहत अब तक 113.56 लाख लोगों को घर सेंक्‍शन किया जा चुके हैं। वहीं 87.95 लाख घर बन रहे हैं और 50.83 लाख घर बनकर तैयार हो चुके हैं। ये लोगों के लिए वरदान साबित हुई है।

नई दिल्‍ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पीएम आवास योजना उन लोगों के लिए एक वरदान बनी है जो घर खरीदने की इच्‍छा रखते हैं। इसकी शुरुआत 1 अप्रैल 2019 को हुई थी और ये योजना 31 मार्च 2022 तक लागू है। इस योजना के माध्‍यम से क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (CLSS) के तहत आवेदनकर्ताओं को होम लोन पर ब्याज लाभ दिया जाएगा जो अधिकतम 2.67 लाख रुपये तक हो सकता है।

इस योजना के तहत मिलने वाले ऋण की अविध 20 वर्ष की हो सकती है। ये ऋण EWS, LIG, MIG-l और MIG-II पर लिया जा सकता है। इस योजना के तहत अब तक देश के करीब 113.56 लाख लोगों को घर सेंक्‍शन किया जा चुके हैं। वहीं 87.95 लाख घर बन रहे हैं और 50.83 लाख घर बनकर तैयार हो चुके हैं। सरकार के मुताबिक इस योजना पर करीब साढ़े सात लाख करोड़ का खर्च आएगा।

आपको बता दें कि इस योजना का ये तीसरा चरण है। इसका पहला चरण अप्रैल 2015 से मार्च 2017की थी। दूसरे चरण की अवधि अप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक और तीसरे चरण की अवधि 3 अप्रैल 2019 से मार्च 2022 तक है। इससे जुड़ी सभी जानकारी https://pmaymis.gov.in/पर ली जा सकती हैं। इस साइट पर जाकर आपके सिटीजन असेसमेंट पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आने वाले तीन विकल्‍पों को चुनना होगा।

विकल्‍प चुनने के बाद जो विंडो खुलेगी उसमें दो विकल्‍प सामने आएंगे, जिनमें से किसी एक को चुनना होगा। इसके बाद आधार कार्ड का नंबर डालना होगा। आपको बता दें कि आवेदन करने के लिए आधार कार्ड पर दर्ज नाम ही लिखना जरूरी है। ऐसा न होने पर आपका आवेदन रिजेक्‍ट कर दिया जाएगा। एक बात का और ध्‍यान रखना है कि आपके बैंक खाते से आपका आधार कार्ड लिंक हो।

आपको बता दें कि सिटीजन असेसमेंट पर जाकर आपको इस बात की भी जानकारी मिल जाएगी कि आप इस योजना के लाभार्थियों में शामिल हैं या नहीं। वर्ष 2014 में सरकार ने 1.13 करोड़ घर बनाने को स्‍वीकृति दी थी। इसमें ने 50 लाख घरों को अब तक गरीबों को दिया जा चुका है। इसकी खास बात ये भी है कि करीब 80 फीसद घरों की स्‍वामी महिलाएं हैं या फिर दोनों ही हैं। पीएम मोदी ने मंगलवार को वर्चुअल तरीके से उत्‍तर प्रदेश के करीब 75 हजार लोगों को उनके घरों की चाभी दी और उन्‍हें शुभकामनाएं भी दी।