लखीमपुर खीरी हिंसा पर बोले उमर, उत्तर प्रदेश अब नया जम्मू-कश्मीर

 


उमर अब्दुल्ला व महबूबा मुफ्ती केंद्र सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं।
महबूबा मुफ्ती ने जहां कहीं भी मानवाधिकारों का हनन होता है वहां सरकार धारा 144 लागू करवा देती है। यह सरकार अपने ही लोगों पर लोहे की छड़ोें का इस्तेमाल करने में झिझक नहीं करती लेकिन चीनी सैनिकों का खुले हाथ से स्वागत करती है।

जम्मू : जम्मू-कश्मीर केे पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने लखीमपुर खेरी में हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश को "नया जम्मू-कश्मीर" कहा है। उमर अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा कि उत्तर प्रदेश अब नया जम्मू-कश्मीर है। आपको बता दें कि लखीमपुर खेरी में रविवार को हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत के बाद आज सोमवार को विवाद और तेज हो गया। 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद उमर अब्दुल्ला व महबूबा मुफ्ती केंद्र सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं। आज सोमवार को ही महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि जहां कहीं भी मानवाधिकारों का हनन होता है, वहां सरकार धारा 144 लागू करवा देती है। यह सरकार अपने ही लोगों पर लोहे की छड़ोें का इस्तेमाल करने में झिझक नहीं करती लेकिन चीनी सैनिकों का खुले हाथ से स्वागत करती है।

वहीं उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर यह भी लिखा कि वहां पर विपक्षी नेताओं के प्रवेश पर भी उसी तरह सरकार ने रोक लगा दी, जैसे जम्मू से राज्य का दर्जा छिनने और इसके दो टुकड़े करने के बाद जम्मू-कश्मीर में किया गया था। लखीमपुर खीरी में विपक्षी नेताओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाकर जोगी सरकार हंगामा खड़ा कर रही है। आपको जानकारी हो कि लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों व भाजपा समर्थकों के बीच विवाद हो गया था। लखीमपुर खीरी में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद एक दंगल में शामिल होने के लिए आने वाले थे लेकिन वहां भाजपा समर्थकों की अनियंत्रित गाड़ी की चपेट में कुछ लोग आ गए थे। इसके बाद भड़की हिंसा में करीब 8 लोगों के मारे जाने की सूचना है।