राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से मिले चंद्रबाबू नायडू, आंध्र प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

 

पहले पार्टी के कार्यालयों पर कथित हमले के मामले में केंद्र सरकार के हस्तक्षेप की मांग की थी

आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने पार्टी कार्यालयों पर हमले में केंद्र सरकार से हस्तक्षेप करने की मांग की थी। वो चाहते थे कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 356 के माध्यम से आंध्र प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

नई दिल्ली, एएनआइ। तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंचे। यहां उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से मुलाकात की। नायडू ने कहा कि राष्ट्रपति से मुलाकात कर हमने उन्हें बताया कि राज्य प्रायोजित आतंकवाद और माफिया गिरोह राज्य में कैसे काम कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश से ड्रग्स देश और विदेशों में पहुंचाई जा रही है।

अपनी पार्टी के कार्यालयों पर कथित हमले के मामले में केंद्र सरकार के हस्तक्षेप की मांग के कुछ दिनों बाद नायडू का यह दिल्ली दौरा हुआ है। उन्होंने कहा, 'हम राष्ट्रपति से मिले और उन्हें बताया कि राज्य प्रायोजित आतंकवाद और माफिया गिरोह राज्य में कैसे काम कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश से ड्रग्स पूरे भारत में और अब विदेशों में भी पहुंचाई जाती है। यह एक राष्ट्रीय मुद्दा है। हम आंध्र प्रदेश को नशा मुक्त बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।'

बता दें कि नायडू ने पार्टी कार्यालयों पर हमले में केंद्र सरकार से हस्तक्षेप करने की मांग की थी। वो चाहते थे कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 356 के माध्यम से आंध्र प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने गुरुवार को आरोप लगाया था कि मंगलगिरी में टीडीपी केंद्रीय कार्यालय पर हमले के लिए युवजन श्रमिक रायथू कांग्रेस पार्टी (वाइएसआरसीपी) जिम्मेदार थी।

उन्होंने कहा था, 'सत्तारूढ़ सरकार विपक्षी पार्टी के कार्यालयों पर हमले के लिए जिम्मेदार है। यह राज्य में कानून और व्यवस्था की पूरी तरह से विफलता है और पुलिस विभाग एक पार्टी कैडर के रूप में कार्य कर रहा है। यदि पुलिस विपक्ष को सुरक्षा देने में विफल है तो टीडीपी अपनी सुरक्षा रखने में सक्षम है।'