देश के कई राज्यों में डेंगू और मलेरिया का कहर, सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश से सामने आ रहे मामले

 


उत्तर प्रदेश में जिला प्रशासन उठा रहा नए कदम
यूपी के ज्यादातर जिलों में लगभग हर दिन मामले दर्ज किए जा रहे हैं। जिला प्रशासन इसके लिए लगातार नए कदम उठा रहा है। इसके लिए प्रशासन आस-पास के इलाकों में गंदे नालों की साफ-सफाई करवा रहा है ताकि मच्छर पनप ना पाएं।

नई दिल्ली, कोरोना महामारी के साथ डेंगू और मलेरिया पांव पसार रहा है। देश के कई हिस्सों में डेंगू और मलेरिया का कहर जारी है। सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश से सामने आ रहे हैं। यहां ज्यादातर जिलों में लगभग हर दिन मामले दर्ज किए जा रहे हैं। जिला प्रशासन इसके लिए लगातार नए कदम उठा रहा है। इसके लिए प्रशासन आस-पास के इलाकों में गंदे नालों की साफ-सफाई करवा रहा है ताकि मच्छर पनप ना पाएं।

बरेली में डेंगू और मलेरिया का कहर

बरेली में पिछले एक हफ्ते में डेंगू के मरीजों की संख्या में तेजी आई है। शनिवार को यहां डेंगू के पांच मरीज मिले हैं। इसके साथ ही मरीजों का कुल आंकड़ा 64 तक पहुंच गया है, वहीं तीन मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इसके अलावा मलेरिया के केस भी बढ़ रहे हैं। शनिवार को 487 लोगों की जांच की गई, जिसमें से छह में मलेरिया की पुष्टि हुई।

फतेहाबाद में डेंगू, मलेरिया और वायरल फीवर के बढ़े मामले

हरियाणा के फतेहाबाद में डेंगू, मलेरिया और वायरल फीवर के मामलों में लगातार तेजी देखी जा रही है। नागरिक अस्पतालों और निजी अस्पतालों दोनों जगह मरीजों की संख्या बढ़ रही है। शनिवार देर शाम को यहां डेंगू के दो नए मरीज मिले हैं। जिले में अब डेंगू के इस साल 26 केस, मलेरिया के दो व चिकनगुनियां के पांच केस आए हैं।

लखनऊ में नहीं थम रहा डेंगू का प्रकोप

लखनऊ में डेंगू का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां रविवार को सात नए मरीज मिले हैं। वहीं 1178 घरों में लार्वा की जांच की गई। करीब दो महीने से शहर में वायरल फीवर और डेंगू के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इसके चलते शहर को 12 सेक्टरों में बांटा गया है। पिछले तीन वर्षों में डेंगू के हाटस्पाट रहे क्षेत्रों में अधिक ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं।