जंगल सफारी के लिए अभी पर्यटकों को करना होगा इंतजार

 


जंगल सफारी करने के लिए अभी पर्यटकों को इंतजार करना पड़ेगा।
मौसम ने दिया दगा अभी तक दुरूस्त नहीं हुईं जंगल की सड़कें 15 अक्टूबर से शुरू होना है पर्यटन पत्र नवंबर में शुरू हो सकती सफारी बीते चार महीनों से बारिश के कारण जंगल की अधिकांश सड़कें क्षतिग्रस्त हैं।

पश्चिम चंपारण (बगहा), जासं। जंगल सफारी करने के लिए अभी पर्यटकों को इंतजार करना पड़ेगा। कारण कि दो दिनों से हो रही वर्षा से जंगल की सड़कों की मरम्मत का कार्य अभी शुरू नहीं हो सका है। वैसे 15 अक्टूबर से वीटीआर का पर्यटन सत्र शुरू होना है। इसको लेकर तैयारी चल रही थी। लेकिन बीते दो दिनों से हो रही वर्षा के कारण एक बार फिर से जंगली सड़कों पर पानी भर गया है। जिससे उसकी मरम्मत का कार्य प्रभावित हो गया है। बीते करीब डेढ़ साल से कोरोना संकट के कारण वन विभाग के द्वारा जंगल सफारी पर प्रतिबंध लगा रखा था। जिसके बाद से ऑन लॉक डाउन होने के बाद विभाग की ओर से आगामी 15 अक्टूबर से जंगल सफारी शुरू करने के लिए तैयारी चल रही थी।

इस बीच दो दिनों के बीच हुई वर्षा से जंगल सफारी वाले रास्तों में फिर से पानी भर गया है। जिससे उन सड़कों की मरम्मत अभी तक नहीं हो पाई है। बीते चार महीनों से हो रही लगातार बारिश के कारण जंगल की अधिकांश सड़कें पूर्व से क्षतिग्रस्त हैं। जिसके बाद से विभाग के की जा रही सभी तैयारियों पर ब्रेक लग गया है। संभावना है कि मौसम ठीक हुआ तो नवंबर के पहले सप्ताह में जंगल सफारी शुरू हो जाएगी।

टाइगर रिजर्व के जंगलों में विभिन्न रिसोर्ट के वैसे वाहन भी पर्यटकों को लेकर जंगल सफारी पर जा सकती है। इसके लिए रिसोर्ट के मालिकों को अपने वाहनों को वीटीआर से गाड़ी का निबंधन कराना होगा। जहां से उस वाहन का नंबर वीटीआर प्रशासन के द्वारा निर्गत किया गया जाएगा। उसके बाद उस गाड़ी पर पर्यटक जंगल सफारी पर जा सकते है। गाड़ी का निबंधन कराने के पहले गाड़ी मालिक को परिवहन विभाग से जरूरी कागजात लेकर जमा करने होंगे।

-- जंगल सफारी के लिए अभी पर्यटकों को इंतजार करना होगा। बारिश के कारण सड़कों पर पानी भर जाने से 15 अक्टूबर से सफारी शुरू नहीं हो सकेगी। मौसम ने साथ दिया तो नवंबर के पहले हफ्ते से सफारी शुरू हो जाएगी।-एचके राय, वन संरक्षक सह क्षेत्र निदेशक वीटीआर, बेतिया